यूं घिर जायेगा चीन अपने ही घर में

नई दिल्ली (25 जनवरी): भारत बहुत शीघ्र ही साउथ वियेतनाम में इसरो का रीजनल सेंटर खोलने जा रहा है। इस सेंटर से भारतीय सैटेलाइट्स की निगरानी और उनसे इमेजेस विकसित की जायेंगी। इस सेंटर का उपयोग वियेतनाम करेगा। वियेतनाम इस सेंटर का उपयोग खेती किसानी और वैज्ञानिक आवश्यकताओं की पूर्ति की पूर्ति के लिये करेगा। एक अंग्रेजी अखाबर ने लिखा है कि वियेतनाम में इसरो का सेंटर शुरु होने से चीन को आपत्ति हो सकती है।  उसे लगता है कि वियेतनाम में इसरो का सेंटर खुल जाने से वो अपन ही घर मे घिर सकता है।

बहरहाल, भारत और वियेतनाम दोनों के लिए यह सेंटर अत्यंत उपयोगी है। चीन की आपत्ति यह हो सकती है कि जो सेटेलाइट इमेज खेती-किसानी के लिए ली जायेंगी उनका उपयोग चीन की मिलिट्री पोजिशन जानने के लिए भी हो सकता है। चीन की आपत्तियों को दरकिनार कर फिल्हाल दोनों देश सैटेलाइट सेंटर शुरु करने की तैयारियों में जुटे हुए हैं।