चीन का दावा, मोदी-जिनपिंग की मुलाकात से दुनिया को मिलेगी अच्छी खबर

बीजिंग (23 अप्रैल): बड़े अंतर्राष्ट्रीय घटनाक्रम के तहत भारत के प्रधानमंत्री मोदी और चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग की इसी हफ्ते मुलाकात होने जा रही है। पीएम मोदी और राष्ट्रपति जिनपिंग के बीच होने वाली इस मुलाकात से जहां डोकलाम विवाद के बाद भारत और चीन के बीच रिश्ते में आई खटास के दूर होने की संभावना है वहीं इस मुलाकात पर पूरी दुनिया की भी नजर है। 

दरअसल प्रधानमंत्री मोदी 27 अप्रैल को चीन के दो दिनों के दौरे पर जा रहे हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि प्रधानमंत्री मोदी के इस दौरे के दौरान डोकलाम विवाद के बाद से भारत और चीन के रिश्ते पर जमी बर्फ पिघलेगी। इस बीच चीन ने उम्मीद जताई है कि पीएम मोदी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच वुहान में होने वाली वार्ता को पूरी दुनिया बहुत साकारात्मक आवाज सनेगी। चीन ने कहा कि दोनों ही देशों के नेता भूमंडलीकरण और बढ़ते सुरक्षावाद के खतरे के बारे में शिखर सम्मेलन में विस्तार से चर्चा करेंगे। इससे पहले रविवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और चीनी प्रतिनिधि वांग ई के बीच मुलाकात हुई थी।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा कि वुहान में दोनों ही नेता लंबी अवधि के सामरिक मुद्दों के साथ-साथ दुनिया के नवीनतम रुझानों पर अपने विचार आदान-प्रदान करेंगे। लू कांग ने कहा कि जिस पृष्ठभूमि के लिए यह बैठक आयोजित की गई है, मेरा मानना ​​है कि आपको यह स्पष्ट होना चाहिए कि दुनिया को व्यापक एकतरफावाद के साथ-साथ वैश्वीकरण की प्रक्रिया में बढ़ती सुरक्षावाद का सामना करना पड़ रहा है।