चीन बोला- भारत का दावा गलत, भूटान का हिस्सा नहीं डोकलाम

नई दिल्ली(6 जुलाई): सिक्किम सीमा पर चल रहे गतिरोध के बीच चीन ने फिर से भारत को सेना हटाने के लिए कहा है। साथ ही भारत के इस दावे को खारिज किया है कि डोकलाम भूटान का है।

- भारत में चीनी दूतावास के पॉलिटिकल काउंसलर ली या ने अपने एक स्टेटमेंट में दावा किया है कि भारत के इस दावे के कोई सबूत नहीं हैं कि डोकलाम भूटान का है। ली या ने दावा किया कि चीन के पास ये साबित करने के लिए कई पुराने रिकॉर्ड थे कि डोकलाम चीन से जुड़ा है।

- चीनी दूतावास ने डोकलाम को लेकर ताजा स्थिति को लेकर ली या की ब्रीफिंग का एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में काउंसलर ने कहा है कि दोनों सेनाओं के बीच गतिरोध दूर करने के लिए पहले भारत को अपनी सेना बिना किसी शर्त के और तुरंत पीछे हटानी होगी। इसके बाद ही भारत और चीन में कोई वार्ता शुरू होगी।

- ली ने आगे कहा है, 'मैं भारत-चीन और भूटान-चीन सीमा क्षेत्र में कई बार गया हूं और डोकलाम के बारे में सीधी जानकारी है। यह खंड की सीमाएं भारत और ग्रेट ब्रिटेन के बीच तिब्बत और सिक्कम को लेकर हुई 1890 की संधि से निर्धारित हैं। इसका मतलब चीन की क्षेत्रीय संप्रभुता को भारतीय सेना ने नुकसान पहुंचाया है।'