"डोकलाम को बेवजह विवाद बना रहा है भारत, उसका कोई लेना-देना नहीं"


नई दिल्ली (2 अगस्त): एक बार फिर चीन ने डोकलाम मुद्दे पर नई चाल चलते हुए कहा है कि इस मामले में भारत का कोई लेना-देना नहीं है। यह मुद्दा चीन और भूटान का है और भारत इसे बेवजह मुद्दा बना रहा है।

चीन ने भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि भूटान तो बहाना है। उसके बहाने भारत दखल दे रहा है। उसे तुरंत और बिना शर्त वहां से अपने सैनिक हटा लेने चाहिए। चीन ने दावा किया है कि 1890 में चीन और यूके (तब भारत में ब्रिटिश हुकूमत थी) के बीच एक करार हुआ था। इसके मुताबिक, डोकलाम एरिया बिना किसी विवाद के चीन का हिस्सा माना गया था।

चीन का कहना है, “चीन और भूटान के बीच बॉर्डर इश्यू है। लेकिन, भारत का इससे कोई ताल्लुक नहीं है। थर्ड पार्टी के तौर पर भारत को कोई हक नहीं कि वो चीन और भूटान के बीच किसी विवाद में दखल दे। भारत भूटान की तरफ से बात क्यों कर रहा है?” भूटान की तरफ से भारत का इस मामले में दखल सिर्फ चीन की सोवरिनिटी का वॉयलेशन नहीं है। ये भूटान भूटान की संप्रभुता और आजादी में भी दखलंदाजी है। चीन और भूटान के बीच दोस्ताना रिश्ते हैं।