हलाल खाद्य उत्पाद पर चीन सख्त, जल्द ला सकता है नया कानून

बीजिंग (28 नवंबर): जिंनपिग सरकार चीन में हलाल उत्पाद पर शिकंजा कसने की तैयारी में है। चीनी मीडिया के मुताबिक सरकार हलाल खाने के उत्पाद पर पूरी तरह से रोक भी लगा सकती है। इन सबसे बीच चीन मीडिया ने राष्ट्रपति जिनपिंग के उस बयान का भी समर्थन किया है जिसमें उन्होंने ने लोगों के  हलाल प्रॉडक्ट्स जैसी इस्लामी प्रवृत्तियों के प्रति सावधान रहने के लिए कहा है।

कम्युनिस्ट पार्टी ने राषट्रपति शी जिनपिंग के बयान का समर्थन करते गुए नागरिकों को हलाल प्रॉडक्ट्स जैसी इस्लामी प्रवृत्तियों के प्रति सावधान करने के लिए कहा है। पार्टी ने कहा कि धार्मिक अलगाव को बढ़ावा देने वाले हलाल प्रोडक्ट्स पर देश में बैन जारी रहेगा।

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने ये स्पष्ट किया है कि कट्टरपंथी इस्लामी विचारधारा का बढ़ता हुआ प्रभाव देश की सुरक्षा का मुद्दा है और चीन इस्लाम का प्रचार करने में सहायता करने वालों को निशाना बनाएगा।

दरएअसल चीन के शिनजियांग प्रांत में रहने वाले उइगर समुदाय के लोग इस्लाम धर्म को मानते हैं। पिछले कुछ सालों में उइगरों द्वारा चीनी सरकार का विरोध काफी बढ़ा है। चीनी सरकार का मानना है कि इसकी वजह पड़ोसी देश पाकिस्तान से चीन में पहुंच रही कट्टरपंथी इस्लामी विचारधारा है, जिससे उइगर लोग चीनी सरकार के खिलाफ खड़े हो रहे हैं। इसी को देखते हुए चीन ने अब कट्टरपंथी इस्लामी विचारधारा को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बता दिया है।

शिनजियांग में चीनी सरकार द्वारा इस्लामिक मान्यताओं के अनुसरण पर सरकार द्वारा लगाए गए नियंत्रण के प्रति पहले से ही काफी नाराजगी है। इनमें शिनजियांग में दाढ़ी बढ़ाने, रमजान के दौरान रोजा रखने, हिजाब पहनने, हलाल फूड खाने और दिन में पांच बार नमाज पढ़ने जैसी इस्लामिक मान्यताएं शामिल हैं। ये सभी चीजें 'एंटी-स्टेट' हैं और इसलिए सरकार के पास इन सभी पर रोक लगाने का अधिकार है।

राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अब ये स्पष्ट कर दिया है कि इन नीतियों को कड़ाई के साथ लागू किया जाएगा। इसकी वजह ये है कि चीन पाकिस्तान प्रायोजित इस्लामी कट्टरपंथ को अपने समाज के लिए सबसे बड़े खतरे के रूप में देखता है.