कम्युनिस्ट चीन ने रमजान शुरु होते ही मुसलमानों पर लगायीं सख्त पाबंदियां, रोज़ा रखने पर भी रोक

नई दिल्ली (7 जून): अभी दो दिन पहले हाफिज सईद के बहाने चीन ने श्वेत पत्र जारी कर पाकिस्तान को करारा जवाब देने वाले चीन ने ने येक बार फिर पाकिस्तान और मुसलमानों को नियंत्रण में रहने की सीख दी है। रमजान शुरु होने से एक दिन पहले ही चीन सरकार ने सख्त निर्देश जारी किये हैं कि किसी भी शहर या प्रांत में फूड-फास्ट फूड और कोल्ड ड्रिंक्स का बिजनैस प्रभावित नहीं होना चाहिए।

किसी भी होटल-रेस्टोरेंट को बंद नहीं किया जायेगा और सरकारी कर्मचारी-अधिकारी स्टूडेंट्स और बच्चों को रोजा नहीं रखेंगे। दरअसल, चीन ने ये सब निर्देश सऊदी अरब के उन सभी निर्देशों के विपरीत दिये हैं जिनमें रोजा रखना दुनिया के सभी मुसलमानों को अनिवार्य बाताया गया है। दरअसल, चीन की सत्‍तारूढ़ कम्‍युनिस्‍ट पार्टी आधिकारिक रूप से अनीश्वरवादी है और पिछले कई सालों से वह सरकारी कर्मचारियों और छोटे बच्‍चों के रोजे रखने पर प्रतिबंध लगाती रहती है। चीन के शिनजियांग में मुस्लिम आबादी एक करोड़ के करीब है और इनमें से ज्‍यादातर उइगर मुसलमान हैं।

 

शिनजियांग प्रांत में पिछले हफ्ते कई स्‍थानीय सरकारी विभागों ने अपनी वेबसाइट्स पर रोजा नहीं रखने को लेकर नोटिस जारी किया था। सेंट्रल शिनजियांग के कोरला सिटी की सरकारी वेबसाइट पर जारी नोटिस में कहा गया था, 'पार्टी मेंबर्स, काडर्स, सिविल सर्वेन्‍ट्स, स्‍टूडेंट्स और नाबालिग रमजान के दौरान रोजा नहीं रखें और न ही धार्मिक गतिविधियों में शामिल हों। इसके अलावा रमजान के महीने के दौरान फूड और ड्रिंक का बिजनस बंद नहीं होना चाहिए।'