हो जाएं सावधान! चीन बना रहा है प्लास्टिक के चावल, ऐसे पहचानें...

नई दिल्ली (26 दिसंबर): अंडा ही नहीं चीन ने तो चावल के साथ भी धोखा शुरू कर दिया है। जी हां, चीन बना रहा है प्लास्टिक के चावल जो देखने में बिल्कुल ही आम चावल की तरह होते हैं, लेकिन हकीकत ये है कि चीन के चावलों को आलू से बनाया जाता है और चमकदार बनाने के लिए केमिकल की मदद से प्लास्टिक कोटिंग की जाती है। ये देखने में इतने असली लगते हैं कि ड्रैगन के नकली चावलों की पहचान करना बेहद ही मुश्किल है।


खबरों के मुताबिक चीन में बने इन चावलों का एक्पोर्ट ड्रैगन भारत के अलावा सिंगापुर, इंडोनेशिया जैसे दूसरे देशों में भी कर रहा है। बताया जा रहा है कि इन नकली चावलों की हज़ारों टन खेप भारत एक्सपोर्ट की जा रही है। प्लास्टिक से बने इस चावल को असली चावल के साथ मिलाकर सेलर इसे ग्राहकों को धड़ल्ले से बेच रहे हैं। इस गोरखधंधे का पता लगाना इसलिए भी मुश्किल हो रहा है कि चीनी प्लास्टिक के चावल हूबहू आम चावलों की तरह हैं। चीन में कई फैक्ट्रियां इस गोरखधंधे में लगी हुई हैं।


एक अंग्रेजी वेबसाइट की खबरों के मुताबिक कुछ निर्माता आलू, शकरकंद और चीनी पॉलीमर मिलाकर प्लास्टिक के चावल बना रहे हैं। इसे बनाने के लिए पहले आलू को चावल के आकार में ढाल लिया जाता है। इसके बाद इसमें इंडस्ट्रियल सिंथेटिक रेजिन मिलाकर आखिर में इन्हें तब तक अच्छी तरह मिलाया जाता है जब तक ये पूरी तरह चावल की तरह नजर नहीं आने लगते।


सूत्रों के मुताबिक चीन में बने ऐसे चावलों दक्षिण भारत के कई शहरों में दुकानों पर देखे गए हैं। ग्राहकों ने भी बताया कि पहचान को छुपाने के लिए प्लास्टिक के चावलों के पैकेट असली चावलों के साथ ऐसे रख दिए या मिला दिए जाते हैं कि इनकी पहचान नहीं हो पाती है। चीन में प्लास्टिक के ये चावल ऐसे बने हैं कि पहचान करना भले मुश्किल हो, लेकिन फिर भी एक तरीका है जिससे दोनों चावलों में फर्क किया जा सकता है।


ऐसे करें पहचान...

अगर आपको शक हो तो उनमें से थोड़े से चावल को जलाने की कोशिश करें, अगर चावल नकली है तो वो काला पड़ जाता है और इसमें प्लास्टिक की महक भी आती है। प्लास्टिक से बना ये चीनी चावल हालांकि असली चावल की तरह पकने के बाद उतना मुलायम नहीं होता है, लेकिन इनमें से निकलने वाले द्रव की वजह से प्लास्टिक की एक खोल बन जाती है। अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि खाने के बाद ये चावल शरीर को किस कदर नुकसान पहुंचाएगा। जानकार मान रहे हैं कि इस चावल को खाने की वजह से गंभीर गेस्ट्राइटिस और पेट से जुड़ी कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं।