चीन बना रहा है ये खास विमान, पलक झपकते ही पहुंच जाएगा अमेरिका

नई दिल्ली ( 17 नवंबर ): अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच तनातनी जा रही है। इस बीच एक और खबर आ रही है जो अमेरिका को चिंतित कर सकती है। चीन इस समय एक खास विमान बना रहा है जो 43 हजार 360 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से सफर तय कर सकेगा जो साउंड की स्पीड से 35 गुना ज्यादा है। यह विमान पलक झपकते ही इसमें न्यूक्लियर बम और मिसाइलें बरसाने की क्षमता होगी। यह हायपरसॉनिक स्ट्राइक करने वाला विमान अमेरिकी के जंगी बेड़ों से लोहा लेने में सक्षम होगा।

विशेषज्ञों ने दावा किया है, '2020 तक दुनिया की सबसे तेज हाइपरसॉनिक फ़सिलटी (चीन का विंड टनल) का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा जिसके बाद इसका परीक्षण किया जाएगा।' मौजूदा समय में दुनिया की सबसे शक्तिशाली विंड टनल न्यू यॉर्क की LENX-X फसिलटी है, जो 22 हजार मील प्रति घंटे (36,000 किमी/घंटे) की स्पीड पर काम करती है।

बता दें कि हाइपरसॉनिक एयरक्राफ्ट बनाने के लिए इन टनल्स का इस्तेमाल किया जाता है, जहां साउंड की स्पीड से पांच गुना ज्यादा रफ्तार पर काम किया जा सकता है। अगर यह प्रयोग सफल रहा तो इस एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल कर चीन से कुछ ही मिनटों में दुनिया के किसी भी हिस्से में हमला किया जा सकेगा। इसमें मिसाइल और परमाणु हथियारों का भी इस्तेमाल किया जा सकेगा।