भारतीय सीमा पर चीनी सेनिकों की बढ़ौतरी चिंता का विषय-पेंटागन

नई दिल्ली (15 मई): अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने कहा है कि पाकिस्तान में चीन की बढ़ती सैनिकों की मौजूदगी चिंता की वज़ह है। पेंटागन ने यब भी कहा है कि चीन ने भारतीय सीमा पर रक्षा क्षमताओं में भारी इजाफा किया है यह और भी चिंता का विषय है। अमेरिकन उप रक्षामंत्री अब्राहम एम डेनमार्क ने एक संवाददाता सम्मेलन में पत्रकारों को बताया, हमने भारत की सीमा के निकट के इलाकों में चीनी सेना की ओर से क्षमता और बल में भारी इजाफा पाया है। डेनमार्क ने कहा कि यह तय करना मुश्किल है कि इसके पीछे चीन की वास्तविक मंशा क्या है।

तिब्बत में सैन्य कमान का स्तर बढ़ाने सवाल पर डेनमार्क ने कहा कि यह कहना मुश्किल है कि इसमें से कितना आंतरिक स्थिरता बरकरार रखने की मंशा कितनी है और पड़ौसियों पर दबाव बढ़ाने की मंशा कितनी है।डेनमार्क ने अमेरिकी रक्षामंत्री एशटन कार्टर की हाल की भारत यात्रा को बहुत सकारात्मक एवं उत्पादक बताते हुए कहा, हम भारत के साथ अपना द्विपक्षीय रिश्ता प्रगाढ़ करना जारी रखेंगे। यह यात्रा चीन के संदर्भ में नहीं बल्कि दोनों देशों के परस्पर प्रगाढ़ होते संबंधों के सिलसिले को और आगे बढ़ाने के लिए थी।

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने दुनिया के विभिन्न हिस्सों में, खास तौर पर पाकिस्तान में आर्मी बेस स्थापित करने और भारत सीमा पर चीनी सेना की बढ़ती मौजूदगी के पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के साथ चीन के दोस्ताना रिश्ते और समान सामरिक हित हैं एक समान हैं और उनका निशाना कोई एक पड़ौसी हो सकता है।