चीन पर अमेरिकी विमानों को लेजर से निशाना बनाने का आरोप, बीजिंग ने किया इनकार

नई दिल्ली (04 मई): अमेरिका ने दावा किया है कि होर्न ऑफ अफ्रीका प्रायद्वीप में जिबूती सैन्य अड्डे पर चीनी सैनिकों ने अमेरिकी विमान को निशाना बनाया है, जिसमें विमान के पायलट घायल हो गए। हालांकि चीन ने अमेरिका के इस दावे को खारिज कर दिया है।

चीन ने कहा कि पेंटागन के आरोपों को निराधार बताया है. इससे पहले वॉशिंगटन पोस्ट की खबर में कहा गया था कि अमेरिका ने चीन से औपचारिक शिकायत की है कि चीनी सेना ने जिबूती में अमेरिकी विमान को उच्च क्षमता वाले लेजर से निशाना बनाकर दो अमेरिकी चालकों को घायल कर दिया। 

अखबार के मुताबिक लेजर वाली यह घटना चीन की ओर से 2017 में जिबूती में अपना पहला विदेशी सैन्य अड्डा खोलने के बाद पहली बड़ी झड़प के रूप में सामने आयी है. लेजर पायलट को अस्थायी रूप से अंधा कर सकता है। चीन के रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में अमेरिकी अधिकारियों के आरोपों को बेबुनियाद कहकर खारिज कर दिया है।

चीन के विदेश मंत्रालय ने भी आरोपों से इनकार किया है। विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने संवाददाताओं से कहा, ‘सावधानीपूर्वक जांच के बाद हमने अमेरिका से स्पष्ट तौर पर कहा है कि आरोपों का तथ्यों से तालमेल नहीं बिठता।’ 

वाशिंगटन पोस्ट के अनुसार पेंटागन की प्रवक्ता डाना डब्ल्यू व्हाइट ने कहा कि अमेरिका ने चीन से हाल के हफ्ते की घटना की जांच करने का अनुरोध किया है जिसमें अनधिकृत चीनी लेजर गतिविधि से जिबूती में अमेरिकी विमान प्रभावित हुआ।