आतंकवाद पर फिर पलटा चीन, बोला- पाक आतंकी देश हो ही नहीं सकता

बीजिंग (17 अक्टूबर): ब्रिक्स सम्मेलन से चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के लौटते ही चीन ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। उसने पाकिस्तान का सपोर्ट करते हुए कहा कि किसी एक मुल्क या मजहब को आतंकवाद से जोड़ना सही नहीं है। पाकिस्तान की कुर्बानियों को भी ध्यान में रखा जाना चाहिए।

बता दें कि मोदी ने गोवा में ब्रिक्स समिट के दौरान पाकिस्तान का नाम लिए बिना उसे आतंकवाद पैदा करने वाला मुल्क बताया था।

मोदी की बात से सहमत नहीं चीन... - मोदी के ब्रिक्स में पाकिस्तान पर दिए बयान के एक दिन बाद चीन की फॉरेन मिनिस्ट्री का रिएक्शन आया। - चीन की फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन हुआ चुन्यांग ने मोदी के बयान पर पूछे गए एक सवाल पर कहा, “आतंकवाद के खिलाफ चीन अपने रुख पर कायम है। हम पहले भी आतंकवाद को किसी मजहब या देश से लिंक करने के विरोधी थे आज भी हैं।” - हुआ ने कहा, “हम आतंकवाद के सभी रूपों का विरोध करते हैं। चीन और पाकिस्तान सदाबहार दोस्त हैं। भारत और पाकिस्तान दोनों टेररिज्म का शिकार हैं। पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ जो कुर्बानियां दी हैं, दुनिया को उसे मानना चाहिए।” - “जहां तक भारत और पाकिस्तान के बीच दिक्कतों की बात है तो दोनों देश हमारे पड़ोसी है और उन्हें विवाद शांतिपूर्ण तरीके से सुलझानी चाहिए। इससे दोनों देशों को फायदा है।”