भारतीय क्रिकेट पर चीन का कब्जा !

नई दिल्ली (10 मार्च):  चीन क्रिकेट नहीं खेला जाता है। चीन की क्रिकेट टीम भी नहीं है लेकिन भारतीय क्रिकेट पर चीन का कब्जा होता जा रहा है। चीन की कंपनियों ने पहले भारतीय़ बाजारों पर कब्जा किया अब क्रिकेट पर कब्जा हो गया है। चाहे वह कैश-रिच इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टाइटल स्पॉन्सरशिप हो या भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे ज्यादा प्रीमियम और सबसे पुराने स्पॉन्सरशिप राइट्स हों, चाइनीज कंपनियों का सभी में दखल हो गया है।

 इंडियन क्रिकेट की सभी प्रमुख स्पॉन्सरशिप पर उन्होंने कब्जा जमा लिया है। स्पॉर्ट्स मार्केटिंग फर्म बेसलाइन वेंचर्स के मैनेजिंग डायरेक्टर तुहिन मिश्रा का कहना है, 'चाइनीज कंपनियां अभी इंडिया के साथ-साथ वर्ल्ड क्रिकेट को कंट्रोल कर रही हैं। निश्चित रूप से भारत और एशियाई उप-महाद्वीप उनके लिए बहुत बड़ा मार्केट है, जिसके कारण चीन की कंपनियां यहां बहुत ज्यादा वैल्यू देख रही हैं और ऐडवर्टाइजिंग, प्रमोशंस पर काफी पैसा लगा रही हैं।'