ड्रोन से करते थे आईफोन की तस्करी, गिरोह का भंडाफोड़

नई दिल्ली ( 1 अप्रैल ): चीनी अधिकारियों ने एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ किया है, जिसने 50 करोड़ यूआन (करीब 7.95 करोड़ डॉलर) के आईफोन की तस्करी देशभर में ड्रोन के जरिए की है। ताज्जुब की बात यह है कि आईफोन की तस्करी ड्रोन के जरिए की गई। 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शेनझेन कस्टम्स ने एक आपराधिक नेटवर्क का भंडाफोड़ किया है, जो शेनझेन-हॉन्ग कॉन्ग सीमा क्षेत्र में सामान्य रूप से ‘फ्लाइंग लाइन’ के रूप में जाने वाले मानव रहित ओवरहेड लाइन का उपयोग करके आयातित इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों की तस्करी करता था। बताया जा रहा है कि इस मामले में अब तक 26 संदिग्धों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 

दूसरी रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने कहा कि गिरोह ने ड्रोन का प्रयोग करके सीमा के आर-पार की दो इमारतों को एक 200 मीटर लंबे तार से जोड़ दिया। इसके बाद बैगों में स्मार्टफोन भरकर उन्हें इन तारों से बांध दिया जाता था और शेनझेन की तरफ से खींच लिया जाता था। 

गौरतलब है कि इससे पहले दक्षिण-पश्चिमी चीन में हवाईअड्डे के ऊपर अवैध रूप से ड्रोन उड़ते पाए गए थे।