चीन के साथ मिलकर पाकिस्तान रच रहा है भारत के खिलाफ ये साजिश

नई दिल्ली (7 जून): हर मामले में भारत से मात खाने वाला पाकिस्तान अब चीन के साथ मिलकर एक साजिश रच रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, चीन अपना एक मिलिट्री बेस पाकिस्तान में बना सकता है। चीन के इस कदम से भारत की स्ट्रैटजिक और डिप्लोमैटिक चुनौतियां बढ़ जाएंगी।

चीन पहले ही हिंद महासागर के कई देशों में पोर्ट्स डेवलप कर रहा है। उसका इकोनॉमिक कॉरिडोर भी पाकिस्तान से गुजरने वाला है। चीन भारत को जमीन और समंदर में घेरने की हर मुमकिन कोशिश करने में लगा है। इससे भारतीय के सामने सीमा सुरक्षा का खतरा पैदा हो सकता है।

पेंटागन ने अमेरिकी कांग्रेस में 97 पेज की रिपोर्ट पेश की। इसमें कहा गया कि 2016 में चीनी आर्मी का बजट 180 बिलियन डॉलर के पार जा चुका है। जबकि अलॉटेड डिफेंस बजट 140 बिलियन डॉलर है। अगर चीन, पाकिस्तान में मिलिट्री बेस बनाता है तो फिर इससे भारत की मुश्किलें ज्यादा बढ़ जाएंगी। इसके पहले वो अफ्रीकी देश जिबोटी में यही कर चुका है। खास बात ये है कि जिबोटी हिंद महासागर और लाल सागर के काफी नजदीक है।

पाकिस्तान एशिया-प्रशांत क्षेत्र में चीन के हथियारों का बड़ा खरीदार है। चीन ने 2011 से 2015 के बीच कुल 12 खरब रुपए के हथियार एक्सपोर्ट किए। जिसमें से करीब 6 खरब रुपए के हथियार अकेले पाकिस्तान ने खरीदे। पिछले साल पाकिस्तान ने 8 सबमरीन खरीदने के लिए कॉन्ट्रैक्ट किया था।