PoK में घुसा चीन

नई दिल्ली(22 जुलाई): चीन की PoK के रास्ते पाकिस्तान तक रेल लाइन बनाने की योजना है। चीन ने अंतरराष्ट्रीय रेल लाइन से अपने सीमावर्ती प्रांत शिनजिआंग को पाकिस्तान से जोड़ने को लेकर कथित तौर पर शुरुआती शोध अध्ययन पर काम शुरू किया है। 

परियोजना को लेकर भारत को एतराज है क्योंकि यह रेललाइन पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरेगी। 1,800 किलोमीटर चीन-पाकिस्तान रेलवे लाइन पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद तथा कराची के रास्ते  गुजरेगी। चीन ने अपने पश्चिमी शहर शिनजिआंग के काशगर से पाकिस्तान के ग्वादार बंदरगाह को जोड़ने वाली रेल लाइन के निर्माण के लिये शुरुआती अध्ययन कराने को लेकर कोष आवंटित कर चुका है।

चीन की चीन-पाक आर्थिक कॉरिडोर (CPEC) को बनाने की योजना है। इस योजना पर आगे बढ़कर चीन ने साफ जाहिर कर दिया है कि उसकी मंशा पाक अधिकृत कश्मीर में स्थायी ठिकाना बनाने की है। उसका यह रवैया कश्मीर पर पिछले दो दशक के रवैए से अलग है। हालांकि चीन के अधिकारी जोर देकर कहते हैं कि उसके इस रवैए में कोई बदलाव नहीं आया है कि कश्मीर मसले का हल 'भारत और पाकिस्तान को निकालना' है। 

PoK से गुजरेगा ''सिल्क रोड''

ऐतिहासिक सिल्क रोड मुख्य रूप से चीन को मध्य एशिया होते हुए यूरोप से जोड़ता है। अब चीन की ताजा परियोजनाएं है पाकिस्तान-चीन आर्थिक गलियारा। यह गलियारा पाक अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरता है। इसके तहत सड़कें, ऊर्जा, सूचना प्रौद्योगिकी और औद्योगिक पार्क बनाए जाएंगे.इसे कजाकिस्तान, किर्गीजस्तान, ताजिकिस्तान तक जोड़ा जाएगा।

PoK में बड़ी तादाद में मौजूद हैं चीनी सैनिक

सेना की उत्तरी कमान के अनुसार पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) में बड़ी तादाद में चीनी सैनिक और चीनी वर्कर मौजूद हैं और वे लोग गिलगिट-बालतिस्तान और पीओके के बीच चल रहे निर्माण कार्यों में शामिल हैं।

चीन ने भारतीय सीमा में कब-कब की घुसपैठ

2015 में अब तक चीन ने 150 बार घुसपैठ की

2014 में 334 बार हो चुकी है घुसपैठ की

7 सितंबर 2009- भारत सीमा के अन्दर लदाख क्षेत्र के पास की वह चट्टान जहाँ पर चीन ने अपना नाम लिख रखा है। 

25 अगस्त 2011- चीन के दो हेलीकॉप्टरों ने भारतीय वायु क्षेत्र में डेढ़ किमी अंदर तक प्रवेश किया, करीब एक दर्जन PLA सैनिकों ने भारतीय सीमा में प्रवेश किया।

15  अप्रैल 2013- लद्दाख के दौलतबेग ओल्डी क्षेत्र में चीनी सैनिकों को टैंट लगाए पहली बार देखा गया। 

23 अप्रैल 2013- Pangong Lake में दिखी चीनी सेना की वोट

5 सितम्बर 2013- चीनी सेना की बड़ी घुसपैठ, LAC पर गश्त से भारतीय फौज को रोका

13 जुलाई 2014- घोड़ों पर सवार होकर आए चीन के सैनिकों ने चुमार क्षेत्र के जरिये भारतीय सीमा में प्रवेश किया।

18 अगस्त- भारतीय सीमा में चीनी सैनिकों ने फिर की घुसपैठ, 30 किलोमीटर अंदर गाड़ा झंड़ा।

15 सितंबर 2014- चुमुर इलाके में  100 भारतीय सैनिकों को 300 चीनी सैनिकों ने घेर लिया है।

8 मार्च 2016- दौलत बेग ओल्दी सेक्टर में चीनी सेना ने गाड़े पांच टेंट।