बाढ़ पीड़ित नेपाल को खुश करने के लिए चीन ने दी 10 लाख डॉलर की मदद

नई दिल्ली(16 अगस्त): नेपाल पिछले 30 सालों में सबसे भयानक बाढ़ से जूझ रहा है। मंगलवार (15 अगस्त) को बाढ़ से मरने वालों की संख्या 115 हो गई। 

- चीन ने नेपाल की मदद के लिए 10 लाख डॉलर (6.4 करोड़ रुपये) दिए हैं। 

- चीनी उप-राष्ट्रपति वांग यांग ने पीड़ितों को “तत्काल राहत” पहुंचाने के लिए दिए हैं। चीन ने नेपाल के साथ कई अरब डॉलर का समझौता भी किया है जिससे दोनों देशों के आपसी रिश्ते पहले से मजबूत होंगे। 

- नेपाल और चीन के बीच तीन अलग-अलग समझौते हुए – पेट्रोलियम, गैस और खदान क्षेत्र के लिए दो अरब डॉलर की परियोजनाओं, 2015 के भूकंप में क्षतिग्रस्त हो गए आरनिको राजमार्ग के पुनर्निमाण और केरूंग-रासुवागार्ही रोड के निर्माण के लिए 15 अरब डॉलर की परियोजना पर समझौता किया है।

- चीन और नेपाल के बीच भविष्य में निवेश को बढ़ावा देने पर भी सहमति बनी। चीन ने बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए नुकसान के आकलन का भी इंतजार नहीं किया। उप-राष्ट्रपति वांग ने नेपाल के पूर्व शाही महल के निर्माण का उद्घाटन किया। शाही महल भी भूकंप में क्षतिग्रस्त हो गया था। भूकंप के दो साल बाद चीन ने इस शाही महल की मरम्मत के लिए आर्थिक मदद दी थी। वांग ने नेपाले के पूर्व प्रधानमंत्रियों केपी ओली और पुष्प कमल दहल “प्रचंड” से भी मुलाकात की।