बच्चा तस्करी मामलाः कैलाश विजयवर्गीय का नाम आने से BJP सकते में !

नई दिल्ली (1 मार्च): पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी बच्चा तस्करी कांड में रोजाना नए-नए पर्दाफाश हो रहे हैं। सीआइडी की पूछताछ में मुख्य आरोपी चंदना चक्रवर्ती ने खुद को बेकसूर बताते हुए फरार चल रही जूही चौधरी को ही मुख्य आरोपी बताया है। साथ ही इस कांड में भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली का नाम प्रकाश में लाकर सियासी हलकों में भी हलचल मचा दी है।

सीआईडी मामले की तह तक जाने के लिए दोनों भाजपा नेताओं से पूछताछ कर सकती है। उधर, सीआइडी की कई टीमें दिल्ली और उत्तर भारत के कई शहरों में तलाशी अभियान चला रही हैं। सीआइडी सूत्रों के अनुसार मंगलवार को की गई पूछताछ में मुख्य आरोपी चंदना ने खुद को तथा अपने भाई मानस और बहन सोनाली मंडल को निर्दोष बताया। कहा कि उसे षडयंत्र के तहत मोहरा बनाया गया है, जबकि शिशु तस्करी कांड की मुख्य आरोपी जूही चौधरी है। उसने बताया कि वह जूही के साथ 10 व 11 फरवरी को दिल्ली गई थी। दावा किया कि जूही की भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय और रूपा गांगुली से बातचीत भी हुई थी। हालांकि उसने वार्ता के दौरान खुद को दूसरे कमरे में होना बताया। आरोप लगाया कि जूही के माध्यम से उसने रूपा और विजयवर्गीय को महंगे तोहफे भी दिए थे। चंदना ने भाजपा नेताओं के साथ प्रशांत सरीन नामक एक अन्य व्यक्ति का नाम भी उजागर किया है।