बच्चों ने पादरी उझुन्नालिल की रिहाई के लिए मोदी को भेजा खत

नई दिल्ली (13 फरवरी): बाल यीशू का रूप धारण किए 60 बच्चों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर फादर टॉम उझुन्नलिल की  रिहाई के लिए उनसे हस्तक्षेप की मांग की है। केरल के फादर टॉम उझुन्नलिल को पिछले साल यमन आतंकियों ने अगवा कर लिया था।

कोच्चि के निकट कुंबलंगी में सैक्रेड हार्ट गिरिजाघर में 4 से 5 वर्ष की आयु के इन बच्चों ने हिंदी, अंग्रेजी और मलयालम भाषा में लिखे पत्रों को इस कार्यक्रम में उपस्थित एर्नाकुलम के सांसद केवी थामस को सौंपा।पिछले साल की शुरुआत में ही आईएसआईएस के आतंकियों ने फादर टॉम को अगवा कर लिया था। साल भर से अधिक समय बीत जाने के बाद भी उनकी रिहाई नहीं हो पाई है। पिछले साल दिसंबर में फादर टॉम का एक विडियो सामने आया था। वीडियो में वह यह कहते हुए अपनी रिहाई की गुहार लगा रहे थे कि अगर वह यूरोपीय पादरी होते तो उनकी रिहाई के लिए प्रभावी प्रयास किए जाते। वीडियो सामने आने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का बयान भी आया था कि भारत सरकार फादर टॉम को IS के चंगुल से छुड़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी और उन्हें जल्द ही रिहा करा लिया जाएगा।