Blog single photo

पतंजलि फूड पार्क के लिए जमीन रद्द करने से योगी ने किया इंकार

बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि के फूडपार्क को ग्रेटर नोएडा में बनने को रद्द किए जाने की बात पर यूपी के सीएम योगी ने सिरे से खारिज कर दिया है। अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय के मुताबिक, यमुना एक्सप्रेस-वे में पतंजलि आयुर्वेद को आवंटित की गई जमीन रद्द नहीं की गई है।

नई दिल्ली (6 जून): बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि के फूडपार्क को ग्रेटर नोएडा में बनने को रद्द किए जाने की बात पर यूपी के सीएम योगी ने सिरे से  खारिज कर दिया है। अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय के मुताबिक, यमुना एक्सप्रेस-वे में पतंजलि आयुर्वेद को आवंटित की गई जमीन रद्द नहीं की गई है। गौरतलब है कि जमीन रद्द होने की बात से इनकार तब किया गया है जब आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी थी।आपको बता दें कि 2016 में पतंजलि ग्रुप यमुना एक्सप्रेस-वे अथॉरिटी में 465 एकड़ जमीन अलॉट की गई थी। इसमें से 50 एकड़ जमीन पतंजलि ग्रुप मेगा फूड पार्क के लिए ट्रांसफर करवाना चाहता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मेगा फूड पार्क के लिए जमीन ट्रांसफर होने से भारत सरकार की योजना के मुताबिक कंपनी को छूट मिल सकती है। औद्योगिक विभाग का कहना है कि पतंजलि को जमीन देने का फैसला कैबिनेट में लिया गया था।लिहाजा उसी जमीन में से 50 एकड़ जमीन को ट्रांसफर कराने के लिए कैबिनेट में ले जाना होगा, जिसकी प्रक्रिया चल रही है। वहीं ये भी कहा गया है कि अगली कैबिनेट में जमीन के ट्रांसफर के प्रस्ताव को रखा जाएगा। गौरतलब है कि फूडपार्क की मनाही को लेकर बाबा रामदेव के नेतृत्व वाले पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड ने प्रदेश में प्रस्तावित पतंजलि फूड पार्क को अब कहीं और शिफ्ट करने की बात कही है। बहराल, मौजूदा वक्त में पतंजलि देश के कोने-कोने में पैठ जमाने मे कामयाब हो गई है। आज देश के तकरीबन हर हिस्से में पतंजलि का डंका बज रहा है।

Tags :

NEXT STORY
Top