नीतीश सरकार का विधायकों और मंत्रियों को बड़ा तोहफा, वेतन में की 30 फीसदी की बढ़ोतरी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 नवंबर): बिहार सरकार ने विधायकों एमएलसी के साथ पूर्व विधायकों को तोहफा देते हुए मूल वेतन से लेकर रेल किराया में इजाफा करने का फैसला लिया है। मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में विधायकों के मूल वेतन में 30 फीसदी की बढोत्तरी करने का निर्णय लिया गया है. बिहार कैबिनेट के इस फैसले को विधानमंडल के आगामी सत्र में सदन में रखा जाएगा और सदन से पारित होते ही इस प्रस्ताव को लागू किया जाएगा।

इस फैसले के लागू होने के बाद बिहार में विधायकों का मूल वेतन 30 हजार से बढ़कर 40 हजार रूपए हो जाएगा। मूल वेतन बढ़ाने के साथ ही क्षेत्रीय भत्ता को भी 45 हजार रुपए से बढ़कर 50 हजार रुपये प्रति महीना हो जाएगा। विधायकों और एमएलसी पर मेहरबानी दिखाते हुए सरकार ने विधायकों को लग्जरी गाड़ी के लिए एडवांस राशि देने संबंधी फैसले को भी अपनी सहमति दी। नए फैसले के मुताबिक 10 लाख से 15 लाख रुपए विधायकों को लग्जरी गाड़ी खरीदने के लिए एडवांस राशि के तौर पर दी जाएगी।

आपको बता दें कि बैठक में जुवेनाइल जस्टिस एक्ट 2015 के अन्तर्गत जुवेनाइल जस्टिस से जुड़े मामलों के पर्यवेक्षण एवं इसे प्रभावी रुप से लागू करने के लिए अपर निबंधन जिला न्यायाधीश कोटि के एक एवं रिसर्च अॉफिसर, सिविल जज सीनियर डिवीजन कोटि के पदों के लिए 30,22,483 रुपये की वार्षिक व्यय की स्वीकृति को मंजूरी दी है। इसके अलावा राज्य के सभी परंपरागत विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों से सेवानिवृत्त पेंशनरों या पारिवारिक पेंशनरों के चिकित्सा भत्ते को बढ़ाकर दो सौ रुपये प्रतिमाह की जाएगी।