PM मोदी के सामने भावुक हुए चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया

नई दिल्ली(24 अप्रैल): चीफ जस्‍ट‍िस ऑफ इंडिया टीएस ठाकुर रविवार को एक कार्यक्रम में भाषण के दौरान भावुक हो गए। मुख्यमंत्रियों व हाईकोर्ट के चीफ जस्‍ट‍िसों की बैठक में रविवार को भाषण देने के दौरान चीफ जस्‍ट‍िस ऑफ इंडिया टीएस ठाकुर के आंसू निकल पड़े। वे न्‍यायपालिका में जजों की संख्‍या और ज्‍यादा बढ़ाने पर जोर दे रहे थे।

इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी भी वहां मौजूद थे। ठाकुर ने मांग की कि केसों की बढ़ती संख्‍या के मद्देनजर जजों की संख्‍या में बड़े पैमाने पर इजाफा किया जाना चाहिए। अपने भावुक भाषण में जस्‍ट‍िस ठाकुर ने आरोप लगाया कि जुडिशरी की मांग के बावजूद कई सरकारें इस दिशा में कोई ठोस कदम उठाने में नाकाम रहीं।

चीफ जस्‍ट‍िस ने कहा कि न निपटाए गए केसों की लगातार बढ़ती संख्‍या के लिए सिर्फ न्‍यायपालिका को दोषी नहीं ठहराया जा सकता। ठाकुर के मुताबिक, जजों को बेहद दबाव के माहौल में केसों का निस्‍तारण करना पड़ रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ठाकुर ने कहा कि बाहरी देशों के जज इस बात पर आश्‍चर्य करते हैं कि कैसे भारतीय जज इतने सारे केसों को निपटाते हैं। ठाकुर के मुताबिक, एक भारतीय जज औसतन 2600 जबकि अमेरिकी जज 81 केसों का निस्‍तारण करता है।