चिकन खाने से पहले सावधान, जरूर पढ़ें यह खबर...

नई दिल्ली (21 अक्टूबर): दिल्ली में बर्ड फ्लू का खतरा मंडरा रहा है। दिल्ली के चिड़ियाघर में पिछले एक सप्ताह में H5 इनफ्लूएंजा के संक्रमण से 17 पक्षियों की मौत हो चुकी है। हालांकि जांच के लिए भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट अभी नहीं आई है, लेकिन चिकन खाने से पहले सावधान रहना चाहिए। बर्ड फ्लू की आशंका को देखते हुए दिल्ली सरकार ऐहतियाती कदम उठा रही है।

दिल्ली में 17 पक्षियों की मौत के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। बर्ड फ्लू के खतरे को लेकर पहले चिड़ियाघर और फिर डीयर पार्क भी बंद किया जा चुका है। दिल्ली के मुर्गा मंडियों में व्यापारी भी इस बीमारी से होने वाले नुकसान को लेकर सहमे हुए हैं। वहीं सरकार की तरफ से इस मामले को लेकर पूरी सतर्कता बरती जा रही है। दिल्ली के विकास मंत्री गोपाल राय खुद मंडियों में जाकर हालात का जायजा ले रहे हैं। शुक्रवार को दिल्ली सरकार की एक टीम गाजीपुर मंडी पहुंची। वहां मुर्गों की जांच की गई। हालांकि अभी तक की जांच से जो बात सामने आई है उसमें फिलहाल किसी तरह का इंफेक्शन नहीं पाया गया है।

दिल्ली की मुर्गा मंडियों में एहतियातन दवाओं का छिड़काव भी हो रहा है। साथ ही सरकार की तरफ से कुछ ऐसे कदम भी उठाए जा रहे हैं ताकि किसी तरह की बीमारी फैल न सके।

- मंडियों में बाहर से आनेवाली गाड़ियों के टायर धोए जाएंगे। ताकि किसी तरह के इंफेक्शन का खतरा न हो। - डॉक्टरी सर्टिफिकेट के बिना गाड़ियों को मंडियों में नहीं आने दिया जाएगा। - 5 डॉक्टर और 5 व्यापारियों की टीम मॉनिटरिंग के लिए लगाई जाएगी।

हालांकि इन सबके बावजूद व्यापारी इस बात को लेकर जरूर परेशान हैं कि कहीं उन्हें खाली न बैठना पड़ जाए। बर्ड फ्लू के दस्तक के चलते दिल्ली सरकार ने पड़ोसी राज्यों को पत्र लिखकर आगाह किया है कि इस पर नजर बनाए रखें। दरअसल दिल्ली में बाहर से आने वाले पक्षियों में बर्ड फ्लू का वायरस मिला है। न कि चिड़ियाघर के पक्षियों में। इसलिए राजस्थान, हरियाणा और यूपी से आने वाले पक्षियों पर नजर रखी जा रही है। इसके लिए सरकार ने 15 टीम बनाई है जो दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में जायजा लेगी।

स्थिति से निबटने के लिए सरकार की तरफ से एक कन्ट्रोल रूम भी बनाया गया है। इसका नंबर 011- 23890318 है। इस नंबर पर फोन कर लोग किसी तरह के मामले की जानकारी की सूचना दे सकते हैं।

खास बात ये है कि अब देश के दूसरे हिस्सों में बर्ड फ्लू की आशंका लोगों को डरा रही है। ग्वालियर के चिड़ियाघर में भी पंद्रह पक्षियों की मौत हो गई है। हालांकि मौत की वजह अभी साफ नहीं हुई है। जांच के लिए सैंपल लैबोरेट्री में भेजे गए हैं।

बर्ड फ्लू क्या है ? बर्ड फ्लू दरअसल एक ऐसी बीमारी है जो पक्षियों से इंसानों में फैलती है। इसका वायरस इतना खतरनाक होता है कि मरीज की मौत तक हो जाती है। ये तीन तरह के वायरस से होता है एवियन इंफ्लूएंजा, H5N1 और इंफ्लूएंजा A वायरस। इनमें सबसे खतरनाक H5N1 माना जाता है। पक्षियों में होने वाला ये वायरस आसानी से इंसान के शरीर में प्रवेश कर सकता है। इस वायरस के चलते फेफड़ों में इंफेक्शन हो जाता है और सांस लेने में दिक्कत होती है। बुखार, खांसी, गला खराब होना, मांसपेशियों में दर्द और कंजंक्टिवाइटिस इसके लक्षण होते हैं।

लिहाजा इससे बचने के लिए ऐहतियात बरतना बेहद जरूरी है। और फिलहाल दिल्ली सरकार इसी पर जोर दे रही है।