डी कंपनी में फूट, अलग हुए दाऊद और छोटा शकील

नई दिल्ली(13 दिसंबर): अंडरवर्ल्ड डॉन और मुंबई धमाकों का मुख्य आरोपी दाउद इब्राहिम और उसके राइट हैंड छोटा शकील के बीच दूरियां बढ़ गई हैं। 'टाइम्स ऑफ इंडिया'  के मुताबिक पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी ISI इन दोनों के बीच सुलह कराने की कोशिश कर रही है। 

- टाइम्स ऑफ इंडिया ने भारत के इंटेलिजेंस अधिकारी के एक सूत्र के हवाले से छापा कि शकील और दाउद के रास्ते अब अलग हो चुके हैं। शकील 1980 के आसपास मुंबई छोड़ने के बाद से ही दाउद के पास कराची के रेडक्लिफ एरिया में रह रहा था। अब उसने अपना ठिकाना बदल लिया है और फिलहाल कहां है यह किसी को पता नहीं है।' 

- सूत्रों के हवाले से ऐसी खबर आ रही है कि दाउद और शकील के अलग होने का कारण हाल ही में दोनों के बीच हुई झड़प है। सूत्र के अनुसार, 'दाउद के सबसे खास और करीबी लोगों में से एक शकील पिछले 3 दशक से उसके साथ ही है। दोनों ने एक साथ मिलकर गैंग को चलाया है। शकील की उम्र इस वक्त 50 के आसपास की होगी। दोनों के बीच हाल ही में दाउद के छोटे भाई अनीस के गैंग के कारोबार में हस्तक्षेप करने को लेकर बहस हुई थी। उस बहस के बाद से ही माना जा रहा है कि शकील अलग हो गया।'

- सूत्रों का कहना है कि अनीस पाकिस्तान में दाउद के साथ ही रहता है और पहले भी कई बार उसने गैंग के काम में हाथ बंटाने के बहाने दाउद का करीबी बनने की कोशिश की। सूत्रों के अनुसार, 'दाउद ने हमेशा ही अपने भाइयों को गैंग में बहुत ज्यादा दखल देने से रोका है, लेकिन हाल ही में एक मीटिंग में शकील और दाउद के बीच अनीस को लेकर कहा-सुनी हो गई। दाउद ने शकील को गैंग से दूर रहने की हिदायत दी और दुबई में कुछ खास लोगों के साथ मीटिंग की। शकील ने भी किसी दूसरे ईस्टर्न एशियाई देश में अपने खास गुर्गों के साथ मीटिंग की है।'

- इंटेलिजेंस ब्यूरो के सूत्रों का कहना है कि दाउद और शकील के बीच हुए अलगाव से पाकिस्तान में भी सुरक्षा एजेंसी चौकन्ना हो गए हैं। माना जा रहा है कि अगर गैंग टूटता है तो भारत के खिलाफ होने वाली गतिविधियां अंजाम दी जा सकती है। 1993 के मुंबई बम धमाकों में दाउद का हाथ था और शकील भी उन धमाकों को अंजाम देने वालों में मुख्य आरोपी है।