लकड़ी को काटा सांप, अस्पताल गई तो पता चला इतना बड़ा सच

नई दिल्ली ( 27 जनवरी ): छिंदवाडा़ के एक गांव में अपने पिता को खोज रही एक लड़की के साथ रात के समय बस के ड्राइवर और कंडेक्टर ने दुष्कर्म किया। लेकिन लड़की ने इसकी शिकायत नहीं की। इसके बाद उसको सांप ने काट लिया उसके बाद उसको नागपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया था।

इस दौरान पुलिस को युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म होने की खबर प्राप्त हुई। पुलिस ने अस्पताल में भर्ती युवती के बयान लेकर केस दर्ज किया। मंगलवार को पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर बुधवार को न्यायालय में पेश किया, जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया। आरोपियों ने जिस बस में दुष्कर्म किया था, पुलिस ने वह बस भी जब्त कर ली है।

सांवरी पुलिस चौकी प्रभारी आरएस शर्मा ने बताया कि कुछ दिन पहले 23 साल की एक युवती अपनी मां और बहन के साथ अपने पिता को एक गांव में ढूंढ रही थी। लेकिन उसे पिता का पता नहीं चला। तीनों रात को उसी गांव में रुक गईं। देर रात यात्री बस क्रमांक एमपी 28 पी 0205 के ड्राइवर मोहखेड़ थाना क्षेत्र निवासी नत्थया माली (40) ने देवगढ़ निवासी बस के कंडेक्टर राजेन्द्र पिता सरवन साहू(26) साल को युवती को बुलाने के लिए भेजा।

युवती ने बताया कि वह यह सोचकर कंडेक्टर राजेन्द्र के साथ बस तक चली गई कि उसके पिता बस में सवार होंगे। लेकिन जैसे ही बस के अंदर झांककर युवती ने देखा तो नारू ने उसे खींच लिया और उसके साथ दुष्कृत्य किया। दुष्कृत्य के बाद दोनों आरोपी मौके से फरार हो गए। युवती ने इसकी शिकायत नहीं की और अपने रिश्तेदार के घर चली गई। इस दौरान उसे खेत में काम करते समय सांप ने डस लिया था।

सांप के डसने के बाद युवती को नागपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया। तभी पुलिस को युवती के साथ हुए गैंगरेप की जानकारी मिली। पुलिस ने नागपुर पहुंचकर युवती के बयान लिए और केस दर्ज किया। इसके बाद मंगलवार की रात देवगढ़ एवं विजयगढ़ से दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर बुधवार को न्यायालय में पेश किया गया। जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस ने बस को भी जब्त कर लिया है। फरार आरोपी यह बस दूसरे ड्राइवर के माध्यम से चलवा रहे थे।