पोस्टमॉर्टम के लिए बाइक पर बांधकर ले जाना पड़ा पिता का शव

कांकेर (14 फरवरी): छत्तीसगढ़ में एक बार फिर मानवता शर्मशार हुई। सरगुजा संभाग के बाद अब बस्तर संभाग के कांकेर में एक बेटे को अपने पिता का शव मोटरसाइकिल में बांधकर पोस्टमॉर्टम के लिए ले जाना पड़ा। उसके पिता महादेव मंडल ने फांसी लगा ली थी। इरपानार इलाके के गांव पीवी 106 निवासी महादेव मंडल (78) शनिवार को अपने ही घर में संदिग्ध हालत में फांसी पर लटके मिले।

जब पुत्र अमल मंडल ने इसकी जानकारी पुलिस को दी तो पुलिस ने कहा, 'शव को पोस्टमॉर्टम के लिए बांदे हेल्थ सेंटर लेकर पहुंचो, हम भी वहां पहुंचते हैं।' पुत्र ने पिता के शव को बांदे उपस्वास्थ्य केंद्र ले जाने के लिए वाहन की व्यवस्था करने का काफी प्रयास किया लेकिन कोई वाहन नहीं मिला। अंत में उसे पिता के शव को बाइक पर रखकर करीब 22 किलोमीटर दूर बांदे उपस्वास्थ्य केंद्र ले जाना पड़ा।

अमल शव को बाइक पर रखकर जब बांदे पहुंचे तो शाम हो गई थी जिस कारण शनिवार को पोस्टमॉर्टम नहीं हो पाया। रविवार की सुबह शव का पोस्टमॉर्टम किया गया। इसके बाद गांव वापस ले जाने के लिए अस्पताल प्रशासन ने शव वाहन की व्यवस्था की। बांदे उपस्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सक गौतम व्यापारी का कहना है, 'अमल अपने पिता के शव को कैसे अस्पताल तक लाए, इसकी मुझे जानकारी नहीं है। पोस्टमॉर्टम के बाद अस्पताल प्रशासन ने शव वाहन की व्यवस्था की।'