छत्तीसगढ़: दूसरे और आखिरी चरण के लिए आज थम जाएगा प्रचार का शोर, 72 सीटों पर 20 नवंबर को वोटिंग


जय प्रकाश त्रिपाठी, न्यूज 24, रायपुर 18 नबंवर): 
छतीसगढ़ विधान सभा चुनाव में दूसरे चरण के लिए प्रचार आज शाम थम जाएगा। दूसरे चरण की 72 सीटों पर 20 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। दूसरे चरण में 1249 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला एक करोड़ 53 लाख 85 हजार 983 मतदाता करेंगे। दो चरणों में हो रहे छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 12 नवंबर को वोटिंग हुई। आठ जिलों की 18 सीटों के लिए 70.08 फीसदी मतदान हुआ। माओवादियों के गढ़ में बड़ी संख्या में हुई वोटिंग से जनता ने यह साबित कर दिखाया कि बंदूकों के डर पर लोकतंत्र की ताकत भारी है।

राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के निर्वाचन वाले 72 विधानसभा क्षेत्रों में नामांकन पत्रों की समीक्षा के बाद कुल 1,249 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र विधिमान्य पाए गए। दूसरे चरण में राज्य के नौ मंत्री रायपुर दक्षिण से बृजमोहन अग्रवाल, रायपुर पश्चिम से राजेश मूणत, बिलासपुर से अमर अग्रवाल, बैकुंठपुर से भैयालाल राजवाड़े, प्रतापपुर से रामसेवक पैकरा, मुंगेली से पुन्नूलाल मोहिले, भिलाई नगर से प्रेम प्रकाश पांडेय, नवागढ़ से दयालदास बघेल और कुरूद से अजय चंद्राकर चुनाव मैदान में हैं। वहीं बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष धर्मलाल कौशिक बिल्हा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं। दूसरे चरण में ही पाटन से प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल, अंबिकापुर से विपक्ष के नेता टीएस सिंहदेव, दुर्ग ग्रामीण से कांग्रेस सांसद ताम्रध्वज साहू और सक्ती से पूर्व केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

वहीं जनता कांग्रेस छत्तीगसढ़ (जे) से पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी मारवाही सीट से, उनकी पत्नी रेणु जोगी कोटा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। जोगी की बहू ऋचा जोगी बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर अकलतरा सीट से चुनाव मैदान में है। राज्य के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस से अलग होकर नई पार्टी का गठन करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी छत्तीसगढ़ में बहुजन समाज पार्टी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। राज्य में दूसरे चरण के मतदान के लिए रायपुर दक्षिण सीट में सबसे अधिक 46 उम्मीदवार और बिंद्रानवागढ़ में सबसे कम छह उम्मीदवार मैदान में हैं।