क्रैश टेस्ट में फेल हुई शेवरले की सेल सेडान

शेवरले की सेल सेडान को सेफ्टी के मामले में जीरो-स्टार रेटिंग मिली है। शेवरले सेल को लैटिन एनसीएपी क्रैश टेस्ट में उतारा गया था। इस टेस्ट में यह कार पूरी तरह से फेल हो गई। व्यस्क पैसेंजर की सुरक्षा के मामले में इसे जीरो स्टार और बच्चों की सुरक्षा के मामले में केवल 2-स्टार रेटिंग मिली है। जीरो स्टार रेटिंग मिलने वाली यह शवेरले की दूसरी कार है। जो कंपनी और ग्राहकों के लिए बड़ा झटका है।

यह टेस्ट बिना एयरबैग वाली कार पर किया गया। टेस्ट के नतीजों के मुताबिक दुर्घटना होने की स्थिति में ड्राइवर के सिर और सीने पर जानलेवा चोट लगने की आशंका बहुत ज्यादा है। कार में शरीर के इन हिस्सों का बचाव करने के सुरक्षा इंतजाम मौजूद नही हैं। इससे पहले 2015 में शेवरले एवियो को भी जीरो स्टार रेटिंग मिली थी। लैटिन एनसीएपी की ओर से कहा गया है कि जनरल मोटर्स के स्वामित्व वाली शेवरले कंपनी को दुनिया की सबसे खराब सेफ्टी रेटिंग मिली है।

लैटिन एनसीएपी की अध्यक्ष मारिया फरनैंडा रॉड्रिग्ज़ ने कहा कि ‘लैटिन अमेरिकन मार्केट में लगातार जीरो सेफ्टी रेटिंग वाली शेवरले कारें मिलने से हम हैरान हैं। पिछले पांच सालों में दूसरी कंपनियों ने सेफ्टी में सुधार किया है, जबकि जीएम की कारें सेफ्टी के मामले में अभी भी निराश ही करती हैं।’ उन्होंने कहा कि ‘लैटिन एनसीएपी हमेशा से लैटिन अमेरिका में सुरक्षित कारों के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए हम लगातार कारों की टेस्टिंग और इसकी जानकारी ग्राहकों और कार कंपनियों को मुहैया कराते रहेंगे।’

ग्लोबल एनसीएपी के सेकेट्री जनरल डेविड वार्ड ने कहा कि ‘दो साल पहले जनरल मोटर्स ने ग्राहकों को सुरक्षित कारें देने की दिशा में ‘स्पीक अप फॉर सेफ्टी’ प्रोग्राम की शुरुआत की थी। ग्लोबल एनसीएपी इसका दिल से स्वागत करता है लेकिन हमारा मानना है कि अब कंपनी को लैटिन अमेरिका और दूसरे उभरते हुए कार बाजारों में सुरक्षित कारें उतारने की तरफ ध्यान देना होगा और इसके लिए हर जरूरी कदम उठाने होंगे।

कारदेखो

क्रैश टेस्ट में फेल हुई शेवरले की सेल सेडान