चेतेश्वर पुजारा तोड़ेंगे 52 साल पुराना ये बड़ा रिकॉर्ड!

नई दिल्ली (7 फरवरी): भारतीय टेस्ट टीम के भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजाराकी निगाहें एक फर्स्ट क्लास सत्र में चंदू बोर्डे का 52 साल पुराना भारतीय रिकॉर्ड तोड़ने पर टिकी हुई हैं। पुजारा मौजूदा सत्र में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 89.52 की भारी भरकम औसत के साथ 1,522 रन बना चुके हैं। जिसमें छह शतक शामिल हैं। चंदू बोर्डे ने 1964-65 के सत्र में 21 मैचों में 64.16 के औसत से 1,604 रन बनाए थे जिसमें 6 शतक शामिल थे। पुजारा ने गुजरात के खिलाफ ईरानी कप में शेष भारत की ओर से खेलते हुए रिद्धिमान साहा के साथ 316 रनों की नाबाद साझेदारी निभाई थी। इस साझेदारी की ही बदौलत शेष भारत ने रणजी चैंपियन गुजरात को हराने में सफलता दर्ज की थी।

पुजारा के करियर में ये दूसरा मौका है जब उन्होंने एक सत्र में 1,500 से ज्यादा रन बनाए हैं। इसके पहले उन्होंने 2012-13 के सत्र में 13 मैचों में 1585 रन बनाए थे और तब उनकी टीम सौराष्ट्र रणजी के फाइनल में पहुंची थी। पुजारा अगर चंदू बोर्डे के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ देते हैं तो वह भारतीय प्रथम श्रेणी क्रिकेट के एक सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी  पुजारा के पास ये रिकॉर्ड तोड़ने का अच्छा मौका है क्योंकि उन्हें इस सीजन में कुल मिलाकर पांच टेस्ट मैच खेलने हैं जिनमें चार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ और 1 बांग्लादेश के खिलाफ मैच शामिल है। पुजारा ने साल 2013 में टीम इंडिया का ओर से पदार्पण किया था। वह अब तक कुल 43 टेस्ट मैचों में 49.33 की बेहतरीन औसत के साथ 3,256 रन बना चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 10 शतक जड़े हैं। पुजारा ने वनडे क्रिकेट में भी हात आजमाया था लेकिन वह इस फॉर्मेट में सफल नहीं हुए और कुल 5 मैच खेलते हुए 51 रन बनाए।