इंग्लैंड के खिलाफ भारत की अबतक की सबसे बड़ी जीत, 4-0 ने सीरीज पर किया कब्जा

चेन्नई (20 दिसंबर): भारत ने चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में सीरीज के पांचवें और अंतिम मैच में इंग्लैंड को पारी और 75 रन से हराकर सीरीज पर 4-0 से कब्जा कर लिया है। ये टीम इंडिया की अबतक की सबसे बड़ी जीत है।

4-0 से इंग्लैंड के खिलाफ क्लीन स्वीप के बाद विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने नई उपलब्धियां हासिल की है। टीम इंडिया की इंग्लैंड के खिलाफ ये अबतक की सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले टीम इंडिया ने 1992-93 में मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में इंग्लैंड को 3-0 से 'वाइटवाश' की थी।

भारत ने करुण नायर के तिहरे शतक (303 नाबाद) के बूते पहली पारी में सात विकेट पर 759 रन बनाए। इसके चलते भारत को 282 रन की बढ़त मिली। इंग्‍लैंड ने पहली पारी में 477 रन बनाए थे।दूसरी पारी में इंग्लैंड की टीम भारतीय गेंदबाजों का मुकाबला नहीं कर सके और पूरी टीम 207 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। भारत की ओर से रविंद्र जडेजा ने दूसरी पारी में सबसे ज्यादा इंग्लैंड के 7 बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा। वहीं इशांत शर्मा, अमित मिश्रा और उमेश यादव ने एक-एक विकेट ने विकेट लिए।टीम इंडिया की चेन्नई टेस्ट में जीत के सितारों में करुण नायर (303*), लोकेश राहुल (199) और रवींद्र जडेजा (10 विकेट- दूसरी पारी में 7 और पहली में 3) प्रमुख रहे। टीम इंडिया ने चौथे दिन नायर के ऐतिहासिक तिहरे शतक की मदद से इंग्लैंड पर 282 रनों की बढ़त बना ली थी, जवाब में इंग्लिश टीम 207 रन पर सिमट गई। कप्तान एलिस्टर कुक (49), कीटन जेनिंग्स (54 रन) और मोईन अली (44) ने हार टालने की भरपूर कोशिश की, लेकिन जडेजा की घूमती गेंदों के आगे उनकी एक न चली। जडेजा ने कुक को सीरीज में पांचवीं बार आउट किया।  एक समय इंग्लैंड का स्कोर बिना किसी नुकसान के 103 रन था, लेकिन उसने अगले 107 रन पर 10 विकेट गंवा दिए, जबकि दिन के खेल में महज नौ ओवर ही बाकी थे।इससे पहले करुण नायर ने टेस्ट क्रिकेट में अपने पहले शतक को तिहरे शतक में बदलकर नाबाद 303 रन की रिकॉर्ड पारी खेली जिससे भारत ने अपना अब तक का सर्वोच्च स्कोर बनाकर इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें और अंतिम टेस्ट मैच में अपनी स्थिति मजबूत कर ली थी।