अगर आप भी पिलाते हैं बच्चों को plastic की बोतल का पानी, तो पढ़ें ये खबर, चौंक जाएंगे

 

नई दिल्ली (18मई): कोलंबिया यूनिवर्सिटी के मेलमैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के शोध कर्ताओँ ने बडा़ ही चौंकाने वाला तथ्य खोज निकाला है। शोध कर्ताओं ने कहा कि प्लास्टिक की बोतल के पानी से बच्चों में मोटापे का रोग हो जाता है। शोध में कहा गया कि प्लास्टिक की बोतल में पानी भरे जाने के तुंरत बाद उसमें कैमिकल प्रक्रिया शुरु हो जाती है।

प्लास्टिक से रिसने वाले कैमिकल पानी में घुलने लगते हैं। ये कैमिकल बच्चों की सेहत पर विपरीत प्रभाव डालते हैं। यहां तक कि गर्भवती महिलाएं अगर पर प्लास्टिक की बोतल में रखा पानी पीती हैं तो उसका असर उनके गर्भ में पल रहे बच्चे के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। शोधकर्ता डॉक्टर एंड्रयू रंडेल लिखा है कि प्लास्टिक की बोतल से पानी में बिसफेनॉल-ए नाम का एंडोक्राइन एक्टिव कैमिकल रिसता है।  बच्चों की कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता के कारण यह कैमिकल उन्हें मोटा बनाने लगता है।