वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे: दिमाग को महंगे पड़ रहे हैं सस्ते इंटरनेट पैक

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (10 अक्टूबर): आज के दौर में ज्यादा तर युवा आपना कीमती समय इंटरनेट के जरिए ही बिताते हैं। सुबह से लेकर शाम तक सोशल मीडिया पर अपने समय को व्यतीत करना ये तो आज के युवाओं की एक तरीके से आदत सी बन गई है। 


लेकिन क्या आपको पता है कि सस्ते होते इंटरनेट पैक लोगों को मानसिक रूप से बीमार बना रहे हैं। लखनऊ के केजीएमयू के मानसिक रोग विभाग की बाल एवं वयस्क मानसिक स्वास्थ्य क्लिनिक में रोजाना ऐसे करीब 10 मरीज आ रहे हैं जिन्हें टेक्नॉलजी, खासकर इंटरनेट से ज्यादा लगाव है। यहां के डॉ. विवेक अग्रवाल के मुताबिक, ज्यादा इंटरनेट के इस्तेमाल से युवाओं के दिमाग पर असर पड़ रहा है। इससे ये लोग चिड़चिड़ापन, गुस्सा, बेचैनी, अकेलापन और विचारों पर अनियंत्रण का शिकार हो रहे हैं।

बता दें कि बाल एवं वयस्क मानसिक स्वास्थ्य क्लीनिक में रोजाना करीब 40 से 50 मरीज आते हैं। डॉ. विवेक ने बताया कि इनमें करीब 25 फीसदी मरीज सिर्फ इंटरनेट के इस्तेमाल के कारण मानसिक बीमारी की जद में आ चुके होते हैं। उन्होंने बताया कि देश में 16 साल तक के वयस्कों में 13 फीसदी मानसिक रूप से बीमार हैं। उनकी क्लिनिक में हर साल करीब 8 हजार मरीज आते हैं, जिनमें से 3 हजार मरीज नए होते हैं।