चार धाम में चलेगी रेल !

नई दिल्ली (11 मई): चारधाम यात्रा करने वालों के लिए खुशखबरी है। सरकार चारधाम यात्रा को जल्द रेल कनेक्टिविटी से जोड़ने पर विचार कर रही है। बताया जा रहा है कि इस प्रोजेक्ट पर 40 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होने की संभावना है। रेलमंत्री सुरेश प्रभु 13 मई को सिंगल ब्रॉडगेज लाइन के लिए फाइनल लोकेशन सर्वे का शिलान्यास करेंगे।

ऋषिकेश और कर्ण प्रयाग के बीच नई रेल लाइन बिछाने के प्रोजेक्ट पर तेजी से काम चल रहा है। वहीं पब्लिक सेक्टर यूनिट रेल विकास निगम लिमिटेड यानी RVNL देहरादून और कर्ण प्रयाग के जरिए गंगोत्री, यमुनोत्री, बद्रीनाथ और केदारनाथ को रेल कनेक्टिविटी के लिए फाइनल सर्वे कर रही है। इससे पहले 2014-15 RVNL ने जमीनी इंजीनियरिंग सर्वे किया था और अपनी रिपोर्ट अक्टूबर 2015 में सौंपी थी। इस सर्वे में 327 किलोमीटर का रेल रूट, 21 स्टेशन और 59 ब्रिज बनाने का प्रस्ताव है। इसमें 21 नए स्टेशन, 61 टनल्स और 59 ब्रिज की रिकमंडेशन की गई थी।


आपको बता दें कि यमुना का उद्गम माना जाने वाला यमुनोत्री समुद्र तल से 3,293 मीटर, गंगोत्री 3,408, केदारनाथ 3,583 और बद्रीनाथ समुद्र तल से 3,133 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।