Blog single photo

सदी का सबसे लंबा और पूर्ण चंद्रग्रहण आज, जानें इसका क्या होगा प्रभाव

आज इस साल का पहला और इस सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण लगने जा रहा है। भारतीय समय के अनुसार यह चंद्रग्रहण पौष माह की पूर्णिमा तिथि पर

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 जनवरी): आज इस साल का पहला और इस सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण लगने जा रहा है। भारतीय समय के अनुसार यह चंद्रग्रहण पौष माह की पूर्णिमा तिथि पर सुबह 9.04 मिनट से शुरू होगा और इसका मोक्ष 12 .21 मिनट पर होगा। यह चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। ग्रहण मध्य-पूर्व अफ्रीका, यूरोप, अमेरिका, पूर्वी रूस में दिखाई देगा। यह ग्रहण सुपर ब्लड वूल्फ मून होगा यानि कि पूर्ण ग्रहण में चंद्रमा एकदम लालिमा लिए होगा। चंद्र के इस रंग के कारण खगोलशास्त्री से इसे ब्लडमून चंद्रग्रहण कह रहे हैं। चंद्रग्रहण के दौरान चंद्रमा बहुत ही खूबसूरत दिखेगा लेकिन भारत के लोग इस चंद्रग्रहण को नंगी आंखों से नहीं देख सकेंगे क्योंकि दिन के समय ग्रहण लगने की वजह से यह चंद्रग्रहण भारत में दृश्य नहीं होगा।जानकारों मुताबिक इस चंद्र ग्रहण एक अद्भुत संयोग बन रहा है। सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ चंद्र ग्रहण आया है। पढ़ाई, नौकरी, व्यापार, शादी, मुकदमा, शत्रु शांति संबंधी हर काम सौ प्रतिशत बनेगा। शुभ माघ मास में सैकड़ों साल बाद ग्रह नक्षत्रों का ऐसा संयोग बना है। प्रयाग का अर्ध्य कुंभ चल रहा है। हर पूर्णिमा का शाही स्नान होगा। लगभग अगले तीन पूर्णिमा तक सुपर चन्द्र की श्रृंखला में यह पहला सुपर मून होगा। चंद्रमा अपनी कर्क राशि में होगा। शनि का पुष्य नक्षत्र होगा। खास चंद्र पुष्य बन रहा है। इस चंद्र पर खग्रास चन्द्र ग्रहण है। स्नान दान जाप पूजा से बहुत लाभ मिलेगा। सारे पाप धूल जाएंगे। रोग-दरिद्रता से मुक्ति मिलेगी।चंद्रमा जल वायु और बर्फ का कारक होता है। पश्चिम दिशा का कारक होता है। 21 से 24 जनवरी तक पश्चिमी विक्षोप यानि वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की वजह से पहाड़ों में बर्फ पड़ सकती है। शीत लहार चलने की अधिक संभावना है। मैदानी इलाकों में तूफ़ान और वर्षा हो सकती। साथ ही समुद्र में हाई टाइड उठ सकती हैं। 21 जनवरी से 24 जनवरी तक मौसम खराब रह सकता है। धन लाभ संबंधी काम में अड़चन आ सकती है।

Tags :

NEXT STORY
Top