फिर आ रहा है हिंदुस्तान का सबसे बड़ा चैंपियन...

नई दिल्ली (11 मई): 11 साल बाद खत्म हो रहा है हिंदुस्तान के सबसे बड़े चैंपियन का वनवास। इंग्लैंड में चैंपियंन युवराज धोनी के साथ करेगा अब तक का सबसे करारा वार। जी हां, चैंपियंस ट्रॉफी के लिए कुछ ऐसी ही तैयारी की है टीम इंडिया के सिक्सर किंग युवराज सिंह ने। इस साल इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरी में युवराज को 4 साल बाद टीम इंडिया में मौका मिला और युवराज ने इंग्लैंड के खिलाफ 150 रनों की पारी खेल कर दिखा दिया कि उनकी बाजुओं का जोर अभी कायम है और धोनी के साथ अब वो फिर से मैच फिनिशर बनने के लिए तैयार हैं।


वैसे भी युवराज सिंह के लिए चैंपियंस ट्रॉफी सबसे खास है। क्योंकि युवराज ने साल 2000 में चैंपियंस ट्रॉफी से ही अपना डेब्यू किया था और अपनी पहली पारी में ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ युवराज ने 84 रन बनाए थे। पहली बार दुनिया ने नीली जर्सी में युवराज को देखा था। कुछ इसी तरह का प्रदर्शन एक बार फिर युवराज सिंह करना चाहते हैं।


चैंपियंस ट्रॉफी से पहले युवराज सिंह का कहना है कि टीम इंडिया का ग्रुप काफी मजबूत है, लेकिन हमारे खिलाड़ी फॉर्म में है। हम खिताब को फिर से बरकरार रखने की कोशिश करेंगे और इसमें मैं सबसे ज्यादा योगदान देने की कोशिश करुंगा। इंग्लैंड में काफी भारतीय रहते हैं यहां घर जैसा माहौल होगा।


हम आपको बता दें कि टीम इंडिया को पाकिस्तान, श्रीलंका और द. अफ्रीका के साथ ग्रप बी में रखा गया है। जहां टीम इंडिया का पहला मैच पाकिस्तान से 4 जून को है। 2006 के बाद पहली बार युवराज सिंह चैंपियंस ट्रॉफी में टीम इंडिया का हिस्सा है। पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले से पहले टीम इंडिया का युवराज सिंह जिस तरह दहाड़ लगा रहा है, उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि एक बार फिर युवराज 2011 वर्ल्ड कप की तरह चैंपियंस ट्रॉफी का हीरो बनने की कोशिश करेंगे।


वैसे आईपीएल में युवराज का प्रदर्शन इस बात की गवाही दे रहा है कि इस बार इंग्लैंड में युवराज के बल्ले का जोर दिखाई देगा। युवराज ने आईपीएल सीजन 10 में 11 मैच की 10 पारियों से 243 रन बनाए हैं। जिसमें दो अर्धशतकीय पारी शामिल है।