कप्तान विराट कोहली की पहली परीक्षा...

नई दिल्ली (11 जून): कप्तान विराट कोहली ने सफेद जर्सी में तो कई रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं। पाकिस्तान को छोड़कर विराट ने हर टीम के खिलाफ सीरीज जीतने का कारनामा कर दिखाया है, लेकिन पहली बार नीली जर्सी में विराट अग्निपरीक्षा देंगे।

ओवल के मैदान पर विराट की नजर जीत पर है, क्योंकि हारने वाली टीम का सफर चैंपियंस ट्रॉफी में यही खत्म हो जाएगा। विराट हर हाल में द. अफ्रीका के खिलाफ जीत हासिल करना चाहते हैं ताकि इस खिताब पर एक बार फिर हिंदुस्तान का कब्जा हो।

मुकाबले से पहले विराट इस तरह ओवल के मैदान पर पसीना बहा रहे हैं। दरअसल पहले पाकिस्तान और फिर श्रीलंका के खिलाफ टीम इंडिया की फील्डिंग अच्छी नहीं रही। द. अफ्रीका के खिलाफ मैदान पर उतरने से पहले फील्डिंग कोच एस श्रीधर के साथ विराट ने जमकर प्रैक्टिस की। साथ ही नेट्स पर टीम इंडिया के बल्लेबाज भी कुछ अलग अंदाज में गेंद को हिट करते नजर आए।

द. अफ्रीकी टीम का सबसे बड़ा हथियार तेज गेंदबाजी है और इसी की काट ढूंढने के लिए विराट के बल्लेबाजों ने इस तरह का गेम प्लान तैयार किया है। इतना ही नहीं श्रीलंका के खिलाफ शून्य पर आउट होने के बाद कप्तान विराट ने अपने बल्ले की धार भी तेज कर ली है। द. अफ्रीका के खिलाफ अहम मुकाबले में कप्तान विराट को क्रिकेट के चाणक्य का पूरा साथ मिलने वाला है। जी हां, चाणक्य यानि कि एमएस धोनी।

श्रीलंका के खिलाफ भी प्रेशर में विराट की बजाय धोनी ने मोर्चा संभाल लिया था। मैदान पर गेंदबाजों को हिदातय के साथ-साथ धोनी लगातार फील्ड सेट करते नजर आए थे। विराट की ताकत और धोनी के तेज दिमाग के कॉकटेल से खेला जाएगा, चैंपियंस ट्रॉफी का सबसे बड़ा मैच जब द. अफ्रीका पर होगा धोनी-विराट का डबल अटैक।