भारत के खिलाफ मुकाबले से पहले बांग्लादेशी कोच ने दिया बड़ा बयान

नई दिल्ली(14 जून): बांग्लादेश क्रिकेट टीम के श्रीलंकाई कोच चंडिका हथुरासिंघा चाहते हैं कि उनके खिलाड़ी भारत के खिलाफ होने वाले चैंपियंस टोफी के सेमीफाइनल मैच को बडे़ मैच के बजाय खुद को साबित करने के लिए बड़ा मौका मानकर चलें।

-  हथुरासिंघा ने कहा, 'यह बहुत बड़ा मैच नहीं बल्कि बहुत बड़ा मौका है। अगर हम इसको इस तरह से देखेंगे तो यह हमारे लिए अच्छा रहेगा। प्रत्येक क्रिकेटर इस तरह का मौका चाहता है। इसलिए खिलाड़ी इस खेल को पसंद करते हैं। जूनियर हों या सीनियर मेरा सभी क्रिकेटरों के लिए यही संदेश है। इस मौके का भरपूर फायदा उठाओ।'

- जब भी बांग्लादेश का भारत के खिलाफ मैच होता है, तो उसका मीडिया और प्रशंसकों के लिए यह क्रिकेट से बढ़कर बन जाता है। किसी भी बांग्लादेशी से पूछो तो वह कहेगा कि वर्ल्ड कप 2015 के क्वॉर्टर फाइनल में रोहित शर्मा को साजिश के तहत नॉटआउट दिया गया। यहां तक कि आज भी बांग्लादेश के एक पत्रकार ने अजीबोगरीब सवाल पूछा, 'कोच अंपायर कुमार धर्मसेना की मैच अधिकारियों में मौजूदगी का आप क्या कर सकते हैं?'

- यह स्पष्ट तौर पर एक कटाक्ष था, लेकिन हथुरासिंघा ने धैर्य से जवाब दिया। उन्होंने कहा, 'अंपायरों की नियुक्ति पर कोई टिप्पणी नहीं। जो बीत गया वह पुरानी बात है।' हथुरासिंघा से पूछा गया कि क्या बांग्लादेश की टीम में बदले की भावना है, उन्होंने कहा, 'बदले जैसी कोई भावना नहीं है। यह एक बहुत अच्छी भारतीय टीम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने से जुड़ा है। एक जीत से हमारा काफी मनोबल बढ़ेगा। हम मैच जीतने और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के बारे में सोच रहे हैं।'