कुछ खास ही है चंबल नदी का पानी, हजारों किलोमीटर दूरसे खिंचे चले आते हैं पंछी !

नई दिल्ली ( 30 मई): चंबल नदी  का पानी, केवल पानी नहीं है, बल्कि यह एक ऐसा पानी है जो पक्षियों की पाचन शक्ति को कई गुना बढ़ा देता है। यही कारण है कि साइबेरिया, मंगोलिया, कजाकिस्तान, लेह-लद्दाख से विदेश मेहमान परिंदे चंबल में हर साल आते हैं। करीब 20 हजार से अधिक परिंदे चंबल के पानी से बीओडी यानी बायोलॉजिकल ऑक्सीजन डिमांड व सीओडी यानी केमिकल ऑक्सीजन डिमांड वाला शुद्ध पानी पीकर अपने देशों को उड़ गए हैं। चंबल में ही ये हजारों परिंदे क्यों आते हैं, इस पर रिसर्च किया है ग्वालियर के गवर्नमेंट पीजी एक्सीलेंस कॉलेज के जूलोजी विभागाध्यक्ष डा. विनायक सिंह तोमर ने, जिनका शोध पत्र बायोलॉजिकल फोना में प्रकाशित हुआ है।