नवरात्र: आज है अष्‍टमी, ऐसे प्रसन्‍न होती हैं महागौरी


नई दिल्ली(4 अप्रैल): आज चैत्र नवरात्र की अष्‍टमी है। इस दिन मां दुर्गा के आठवें स्वरूप महागौरी के पूजन का विधान है। धर्मिक मान्यताओं के अनुसार, महागौरी की उपासना से इंसान को हर पाप से मुक्ति मिल जाती है।


- आइए जानें देवी के इस स्वरूप का विशेष महत्व...


- नवदुर्गा का आठवां स्वरूप महागौरी हैं। ऐसी कथा है कि भगवान शिव को पाने के लिए इन्होंने कठोर तप किया था। जिसके कारण इनका शरीर काला पड़ गया था पर इनकी तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने इन्‍हें दर्शन दिए और मां का शरीर कांतिमय कर दिया. तब से इनका नाम महागौरी पड़ गया।


- चूंकि महागौरी श्वेत वर्ण की हैं, इसलिए इन्‍हें सफेद रंग बहुत प्रिय है। इन्‍हें सफेद रंग के फूल अर्पण करने चाहिए। इनकी पूजा पीले रंग के कपड़े पहनकर करनी चाहिए। प्रसाद में मां को नारियल और हलवे का भोग लगाएं।


- महागौरी का पूजन करने से विवाह में आ रही बाधाएं दूर होती हैं।


- अगर आप भवन निर्माण करवा रहे हैं और उसमें अड़चनें आ रही हों तो दूर होती हैं।


- नौकरी से संबंधित बाधाएं दूर होती हैं।


- जो महिलाएं महागौरी का पूजन करती हैं उनके सुहाग की रक्षा देवी स्वयं करती हैं।