अपराधियों को पकड़ने के लिए सरकार उठा सकती है ये बड़ा कदम

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जून): गुरुवार को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने कहा कि केंद्र पहली बार अपराध करने वाले लोगों से जुड़े अपराध के मामले सुलझाने और अज्ञात शवों की पहचान करने के लिए पुलिस के साथ आधार ब्यौरा साझा करने के अनुरोध पर विचार करेगा।

उन्होंने यहां फिंगर प्रिंट्स ब्यूरो के निदेशकों के 19वें अखिल भारतीय सम्मेलन में कहा कि आधार से जुड़ी सूचना साझा करने और कैदी पहचान अधिनियम में संशोधनों को मंजूरी देने से संबंधित सुझावों पर मंत्रालय में चर्चा की जाएगी. मंत्री राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के निदेशक ईश कुमार के सुझावों को लेकर बोल रहे थे।

कुमार ने सम्मेलन में कहा कि पहली बार अपराध करने वाले लोगों को पकड़ने और अज्ञात शवों की पहचान करने के लिए पुलिस को आधार ब्यौरा सीमित तौर पर उपलब्ध कराया जाना चाहिए।

अहीर ने साथ ही कहा कि फिंगर प्रिंट्स ब्यूरो की डेटा स्टोरेज क्षमता आधुनिकीकरण के साथ बढ़ाई जानी चाहिए और सरकार प्राथमिकता देते हुए इसपर विचार करेगी. बाद में कुमार के सुझाव को लेकर संवाददाताओं के सवाल करने पर मंत्री ने कहा कि हम इसे लेकर कोशिश करेंगे. यह काफी महत्वपूर्ण लगता है।