मेट्रो, मोनो रेल पुरानी बात, अब देश में केबिल कार चलाएगी मोदी सरकार

नई दिल्ली (5 सितंबर): केंद्र सरकार अब देश में ट्रांसपोर्ट के क्षेत्र में एक नया कदम उठाने जा रही है। मेट्रो, मोनो रेल और बसों के बाद अब पब्लिक ट्रांसपॉर्ट के रूप में केबल कार को बढ़ावा देने की तैयारी है। 

- रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार का मानना है कि छोटे शहरों के लिए यह ट्रांसपॉर्ट का एक बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है। - इसके लिए न सिर्फ कम जमीन की जरूरत होती है, बल्कि इसकी लागत भी तुलना में कम होती है। - इसके अलावा यह प्रदूषण रहित भी है। - अपनी इस कवायद के तहत अब शहरी विकास मंत्रालय ने पायलट प्रॉजेक्ट के रूप में सिक्किम के गंगटोक में केबल कार प्रॉजेक्ट के लिए स्टडी कराने का फैसला लिया है। - शहरी विकास मंत्रालय के एक सीनियर अधिकारी ने इसकी पुष्टि की। - उन्होंने बताया कि सिक्किम के गंगटोक में पब्लिक ट्रांसपॉर्ट के रूप में केबल कार प्रोजेक्ट की स्टडी कराने का फैसला लिया गया है।  - इसके लिए मंत्रालय ने एक करोड़ 20 लाख रुपये की राशि जारी की है।  - मंत्रालय को उम्मीद है कि अगले छह महीने में इसकी रिपोर्ट आ जाएगी।  - अगर रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो मंत्रालय इसे पब्लिक ट्रांसपॉर्ट के रूप में एक वैकल्पिक साधन के रूप में उपयोग करेगा।