पाकिस्तान की ताबड़तोड़ फायरिंग के बीच घंटों फंसे रहे 217 स्कूली बच्चे

नई दिल्ली(19 जुलाई): पाकिस्तान ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर के माछिल सेक्टर में फायरिंग की। इससे पहले पाकिस्तानी सेना ने एलओसी के पास राजौरी, पुंछ और कुपवाड़ा जिले के कई इलाकों को निशाना बनाया, जिसका भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया।

- पाकिस्तानी सेना की गोलाबारी में राजौरी जिले के एक सरकारी स्कूल के सैकड़ों छात्रों का जीवन खतरे में पड़ गया।

-  राजौरी के उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने बताया कि अधिकारियों ने 250 लोगों को बचा लिया। इनमें से 217 छात्र थे। ये सभी एलओसी के पास राजौरी के कदली और सेहा इलाकों में स्थित तीन स्कूलों में करीब छह घंटे तक फंसे थे। उन्हें बुलेटप्रुफ वाहनों में निकाला गया। प्रशासन ने इन बच्चों को सुरक्षित निकालने के लिए बख्तरबंद वाहनों को लगाया था।

- रक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा पर राजौरी के नौशेरा सेक्टर में दिन में करीब 1:50 बजे छोटे एवं स्वाचालित हथियारों से अकारण अधाधुंध गोलीबारी की और मोर्टार के गोले दागने शुरू कर दिये।’’ 

- पाकिस्तानी सेना ने स्कूलों पर जमकर मोर्टार दागे। तीन स्कूलों को निशाना बनाकर की गई गोलाबारी के बीच सेना, पुलिस और प्रशासन ने बुलेटप्रूफ वाहनों में 217 बच्चों और 15 शिक्षकों को सुरक्षित निकाला।