Blog single photo

कमलेश तिवारी के हत्यारे शाहजहांपुर में दिखे, CCTV में संदिग्ध की तस्वीर हुई कैद

कमलेश तिवारी के हत्याकांड में नया खुलासा हुआ है। संदिग्धों को शाहजहांपुर में देखा गया है। CCTV में तस्वीर आने के बाद से एसटीएफ ने होटलों और मदरसों के मुसाफिरखानो में ताबड़तोड़ छापेमारी की।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 अक्टूबर):  कमलेश तिवारी के हत्याकांड में नया खुलासा हुआ है। संदिग्धों को शाहजहांपुर में देखा गया है। CCTV में तस्वीर आने के बाद से एसटीएफ ने होटलों और मदरसों के मुसाफिरखानो में ताबड़तोड़ छापेमारी की। पुलिस को सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध दिखाई दिए हैं। फिलहाल एसटीएफ की टीम शाहजहांपुर में डेरा जमाए हुए है।

रेलवे स्टेशन पर होटल पैराडाइस में लगे कैमरे की सीसीटीवी फुटेज में दोनों संदिग्ध हत्यारे दिखाई दिए हैं। दोनों संदिग्धों ने रेलवे स्टेशन पर इनोवा गाड़ी छोड़ दी और पैदल रोडवेज बस स्टैंड की तरफ जाते हुए दिखाई दिए हैं। सूत्रों की मानें तो कमलेश तिवारी हत्या के संदिग्ध हत्यारे लखीमपुर जिले के पलिया से इनोवा गाड़ी बुक करा कर शाहजहांपुर पहुंचे थे। संदिग्धों की शाहजहांपुर में लोकेशन मिलने पर एसटीएफ ने तड़के 4 बजे कई होटलों, मदरसों और मुसाफिरखाना में ताबड़तोड़ छापेमारी की।

कमलेश तिवारी के हत्यारे लालकुआं के गुरु गोविंद सिंह मार्ग स्थित 'होटल खालसा इन' में ठहरे थे। गुरुवार रात दोनों 11 बजकर आठ मिनट पर होटल पहुंचे थे। आरोपितों ने सूरत सिटी स्थित जिलानी अपार्टमेंट प्लाट नंबर 15-16 पद्मावती सोसायटी लिंबावत निवासी पठान मोइनुद्दीन अहमद और शेख अशफाक हुसैन की आइडी पर कमरा बुक कराया था।

होटल प्रबंधन ने दोनों को बेसमेंट में कमरा नंबर जी 103 में ठहराया था। शुक्रवार दोपहर से शनिवार शाम तक जब दोनों नजर नहीं आए तो होटल के कर्मियों को संदेह हुआ। टीवी चैनलों पर फुटेज देखने के बाद कर्मचारियों ने कमरे का दरवाजा खोला। उन्हें बेड पर खून से सने दो कुर्ते पड़े मिले।

Tags :

NEXT STORY
Top