उत्तराखंड: 240 करोड़ के NH घोटाले की होगी सीबीआई जांच

नई दिल्ली ( 28 मार्च ): उत्तराखंड के ऊधमपुर जिले में हुए एनएच-74 मुआवजा घोटाले की जांच सीबीआई करेगी। राज्य सरकार ने केन्द्र से इसकी सिफारिश कर दी है। इस घोटाले में करीब 100 से ज्यादा अधिकारी, कर्मचारियों के अलावा नेताओं के भी शामिल होने का अंदेशा है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने 25 मार्च को इस घपले की सीबीआई से जांच कराने का निर्णय लिया था। राज्य के मुख्य सचिव ने केन्द्र को फैक्स भेजकर जांच की सिफारिश कर दी है। एनएच मुआवजा में करीब 240 करोड़ रुपये के घोटाले की पुष्टि हो चुकी है।


प्रसे कांफ्रेंस में मुख्यमंत्री तिवेंद्र सिंह रावत ने कहा भ्रष्टाचार पर जीरो टोलरेंस होगा। भ्रष्टाचार के खिलाफ धर्मयुद्ध की तरह लड़ाई लड़ी जाएगी। इसमें शामिल सभी दोषी व्यक्ति चाहे कितना ही बड़ा क्यों न हो, बच नहीं पाएगा।


गौरतलब है कि ऊधमपुर जिले में बाजपुर से सितारगंज तक एनएच-74 के लिए किसानों से जमीनें ली गई थीं। इसके बदले उन्हें मुआवजा दिया गया था। कुछ मामले में कृषि योग्य भूमि को अकृषि योग्य घोषित कर मुआवजा ले लिया गया था। आयकर विभाग ने इस परियोजना से जुड़े अधिकारियों के घरों और दफ्तरों पर छापा भी मारा था और कई अहम दस्तावेज जब्त किए थे। इस मामले में मुख्य भूमि अध्याप्ति अधिकारी डीपी सिंह को गिरफ्तार भी किया गया है। एनएच घोटाले की रकम करीब 240 करोड़ रुपये तक पहुंच चुकी है। एक ही दिन में ऐसे 122 मामले सामने आने पर कुमायूं मण्डल के कमिश्नर ने गंभीरता से लेते हुए मामले की जांच करने के आदेश दिये थे।