CBI में लैटर बमः 'रिश्वत लेकर कमज़ोर की गयी कोयला घोटाले की जांच'

नई दिल्ली (2 मई):  सीबीआई में एक लैटर बम से खलबली मची हुई है। यह शिकाती लैटर बम सीबीआई निदेशक को 'एक जांच अधिकारी' के नाम से भेजा गया है। इस शिकायती लैटर से कोयला घोटाले में नया बवाल खड़ा हो सकता है। लैटर लिखने वाले  ने सीबीआई के अधिकारियों पर रिश्वत लेकर कोयला घोटाले की जांच कमजोर करने और रिश्वत पूरी न मिलने पर जांच फिर से शुरु करने जैसे कई आरोप लगाये हैं। इस शिकायती चिट्ठी को लिखने वाले ने अपने नाम की जगह 'सीबीआई का ईमानदार जांच अधिकारी' लिखा है।

उसने लिखा है एजेंसी में उनके साथ काम कर रहे कुछ अधिकारियों ने मामले को कमजोर करने के लिए रिश्वत ली है। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक यह चिट्ठी सीबीआई निदेशक अनिल सिन्हा को मार्च में लिखी गयी थी। सीबीआई अधिकारी के आरोपों पर जब जांच एजेंसी के प्रवक्ता से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करते हुए सीबीआई कोयला घोटाले की जांच पर कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं है। अंग्रेजी अखबार के मुताबिक सीबईआई निदेशक ने शिकायत पर संज्ञान ले लिया है। क्योंकि इसका संबंध 24 खास मामलों से है।