नारद स्टिंग मामला: TMC नेताओं समेत 13 लोगों के खिलाफ FIR

नई दिल्ली ( 18 अप्रैल ): नारद स्टिंग कांड में सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार सीबीआइ ने एक महीने की प्राथमिक जांच के बाद 13 आरोपियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज किया है। एफआइआर में 'अन्य' शब्द का भी इस्तेमाल किया गया है अर्थात इन 13 के अलावा मामले में अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े अन्य लोगों के खिलाफ भी सीबीआइ जांच करेगी।


नारद स्टिंग मामल में सीबीआई ने सोमवार को राज्यसभा सांसद मुकुल रॉय, पूर्व मंत्री मदन मित्रा समेत तृणमूल कांग्रेस के 12 नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस मामले में ये नेता कैमरे पर कथित तौर पर रुपये लेते हुए कैद हुए थे।

एफआइआर में पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के 12 नेताओं के नाम हैं। इनमें मंत्री व सांसद भी शामिल हैं। जबकि एक नाम राज्य के पुलिस अधिकारी का है। ये सभी आरोपी नारद स्टिंग ऑपरेशन के वीडियो फुटेज में दिख रहे हैं। सीबीआइ के जांच अधिकारी इन सभी को जल्द पूछताछ के लिए तलब कर सकते हैं। साथ ही सबको नारद न्यूज वेबपोर्टल के सीइओ मैथ्यू सैमुअल के साथ आमने-सामने बैठाकर भी पूछताछ की जा सकती है।


21 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआइ से एक महीने में नारद स्टिंग कांड की प्राथमिक जांच पूरी कर आरोपियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने का निर्देश दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा था कि अगर सीबीआइ को जांच के लिए अतिरिक्त समय की जरूरत पड़ती है तो वह कलकत्ता हाई कोर्ट में आवेदन कर सकती है।