CBI के शिकंजे में आए आनंद जोशी, NGO को फायदा पहुंचाने का है आरोप

नई दिल्ली (15 मई): गृह मंत्रालय में अंडर सेक्रेटरी के पद पर तैनात आनंद जोशी को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने हिरासत में ले लिया है। वे जांच के डर से 11 मई से गायब थे। बता दें कि आनंद जोशी पर एनजीओ को फायदा पहुंचाने का आरोप है।

इससे पहले सीबीआई ने आंनद जोशी के खिलाफ भ्रष्टाचार और आपराधिक साजिश का मुकदमा दर्ज किया था। सीबीआई ने ये मुकदमा गृह मंत्रालय के निर्देश पर दर्ज किया है। आनंद जोशी पर गलत ढंग से कई एनजीओ को नोटिस जारी कर उनसे रिश्वत लेने का आरोप है। साथ ही उनपर तीस्ता शीतलवाड़ के एनजीओ से जुड़ी दो फाइलें गायब करने का भी आरोप है।

बता दें कि इससे पहले सीबीआई ने उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन जांच के डर से वो अपने घर से लापता हो गए थे। आनंद ने घर छोड़ने से पहले पत्नी के नाम एक चिट्ठी भी छोड़ी थी, जिसमें उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीने से उन्हें मानसिक तौर पर प्रताड़ित किया जा रहा था।