2जी स्पेक्ट्रम घोटाला: ए राजा और कनिमोझी की किस्मत का फैसला आज


नई दिल्ली ( 21 दिसंबर ):
यूपीए-2 के कार्यकाल में हुए सबसे बड़े 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाले पर कोर्ट आज फैसला सुना सकती है। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट की स्पेशल सीबीआई अदालत गुरुवार को मुख्य आरोपी पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा और डीएमके सांसद कनिमोझी समेत कई अन्य आरोपियों पर अदालत अपना फैसला सुना सकती है। 2011 में इस मामले में सीबीआई ने पहली गिरफ्तारी की थी। 

उसके तकरीबन सात साल बाद अब फैसला आने वाला है। बता दें कि 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाला देश के सबसे बड़े घोटालों में से एक है। सीबीआई और ईडी द्वारा दर्ज अलग-अलग मामलों में स्पेशल सीबीआई के जज ओपी सैनी फैसला सुनाने वाले हैं। 

यूपीए सरकार के दूसरे कार्यकाल के दौरान 2 जी स्पेक्ट्रम के आवंटन में हुए घोटाले ने मनमोहन सिंह की सरकार को बुरी तरह हिला कर रख दिया था। कोर्ट ने इस घोटाले से जुड़े सभी आरोपियों को फैसला सुनाए जाते वक्त मौजूद रहने का आदेश दिया है। 

2010 में आई एक सीएजी रिपोर्ट में 2008 में बांटे गए स्पेक्ट्रम पर सवाल उठाए गए थे। इसमें बताया गया था कि स्पेक्ट्रम की नीलामी के बजाए 'पहले आओ, पहले पाओ' के आधार पर इसे बांटा गया था। इससे सरकार को एक लाख 76 हजार करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। इसमें इस बात का जिक्र था कि नीलामी के आधार पर लाइसेंस बांटे जाते तो यह रकम सरकार के खजाने में जाती।