केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार गिरफ्तार

नई दिल्ली (4 जुलाई): केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार को सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया है। राजेद्र कुमार समेत 5 लोगों को भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

क्या है मामला: राजेन्द्र कुमार 10 मई 2002 से लेकर 10 फरवरी 2005 तक निदेशक (शिक्षा) रहे। इस दौरान उन्होंने तिमारपुर में कंप्यूटर लैब बनाते हुए अशोक कुमार नाम के शख्स को इसका इंचार्ज नियुक्त किया। बाद में राजेन्द्र कुमार ने दिनेश कुमार गुप्ता और संदीप कुमार के साथ मिलकर एंडीवर्स सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड नाम से कंपनी बनाई। गुप्ता शिक्षा विभाग को स्टेशनरी के सामान की सप्लाई करते थे। साल 2007 में राजेन्द्र कुमार दिल्ली सरकार के आईटी सेक्रेटरी बने और अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने एंडीवर्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ कंपनी को एक पीएसयू यानी सार्वजनिक क्षेत्र की उपक्रम के साथ इंपैनल करा लिया जिससे कि उनकी कंपनी बिना किसी टेंडर के ही सरकारी विभागों के साथ डील कर सके। आरोप है कि बिना टेंडर काम आवंटित किये जान से दिल्ली सरकार को करोड़ों के राजस्व का नुकसान हुआ।

कौन हैं राजेंद्र कुमार? -वरिष्ठ आईएएस अधिकारी राजेंद्र कुमार फरवरी में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के प्रि‍ंसिपल सेकेट्री के रूप में नियुक्त हुए थे।

-कुमार 1989 बैच के आईएएस अधिकारी हैं।

-कुमार अरविंद केजरीवाल के पहले कार्यकाल में भी उनके सचिव रह चुके हैं।

-वह भी केजरीवाल की तरह आईआईटी दिल्ली से पासआउट हैं।

-कुमार शहरी विकास विभाग के साथ-साथ पावर और परिवहन विभाग के भी सचिव रह चुके हैं।