19 कंपनियों पर 400 करोड़ रुपये विदेश भेजने का आरोप, CBI करेगी जांच

नई दिल्ली (9 सितंबर): मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है। CBI अब 19 ​कंपनियों पर 400 करोड़ रुपये से ज्यादा विदेश भेजने के आरोप की जांच करेगी। सरकार को मुखौटा कंपनियों के जरिये मनी लॉन्ड्रिंग होने का संदेह है। यह आरोप है कि 2015 में पंजाब नेशनल बैंक, मिंट स्ट्रीट शाखा, चेन्नई के अज्ञात अधिकारियों ने 19 आरोपी कंपनियों के साथ साजिश रची। इन कंपनियों का इस बैंक की शाखा में खाता था।

एफआईआर के मुताबिक ये कंपनियां ने बिना किसी सही व्यापारिक लेन-देन के हांगकांग को विदेशी मुद्रा भेज रही थीं। बैंक में इस प्रकार खोले गए खातों का विदेशों में पैसे  भेजने में इस्तेमाल किया जा रहा था। CBI के मुताबिक जनवरी 2015 से मई 2015 के बीच विभिन्न चालू खातों के ​जरिये आयात के लिये 700 लेन-देन के लिये अग्रिम रकम भेजी गई। कुल राशि 424.58 करोड़ रुपये थी।

CBI का कहना है कि सारी अग्रिम रकम नॉस्ट्रो खाता के जरिये भेजी गई जिसे HSBC, न्यूयॉर्क मेंटेन रखता है। बैंक ने पाया था कि कोई भी इकाई दिये गए पते पर काम नहीं कर रही थी। ऐसे में सीबीआई इन कंपनियों की जांच कर सच बाहर लाने की कोशिश कर रही है।