CBDT का संदिग्ध खाते धारकों को राहत, IT को नोटिस नहीं देने का दिया निर्देश

नई दिल्ली (21 फरवरी): नोटबंदी के दौरान अपने खाते में 5 लाख या उससे ज्याद रुपये जमा कराने वालों के लिए फिलहाल राहत भरी खबर हैं। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड यानी CBDT ने इनकम टैक्स अधिकारियों को कहा है कि स्वच्छ धन अभियान के तहत जिन लोगों SMS और emials भेजे गए थे उन्हें आगे की कार्रवाई के तहत धमकी या कारण बताओ नोटिस न दिया जाए।

आयकर विभाग के नीति बनाने वाले निकाय CBDT  ने इस बारे में 8 पृष्ठ की निर्देश-पत्रिका निकाली है। इसमें यह स्पष्ट किया गया है कि स्वच्छ धन अभियान के तहत सत्यापन के दायरे में आने वाले किसी व्यक्ति के लिए आयकर कार्यालय में किसी भी परिस्थिति में निजी रूप से पेश होने की जरूरत नहीं है।

इसमें यह भी सुनिश्चित करने को कहा गया है कि सत्यापन की प्रक्रिया में लोगों से ऑनलाइन पत्राचार की भाषा काफी नरम होनी चाहिए और इसमें धमकी या चेतावनी जैसा कुछ नहीं होना चाहिए। किसी तरह का कारण बताओ नोटिस भी नहीं दिया जा सकता। विभाग ने 50 दिन की नोटबंदी प्रक्रिया के दौरान 5 लाख रुपये से अधिक की संदिग्ध राशि जमा कराने वाले करीब 18 लाख लोगों को एसएमएस और ईमेल भेजा है।